Categories
उत्तर प्रदेश राजनीति

अयोध्या में राम मंदिर, काशी में विश्वनाथ धाम तो मथुरा-वृंदावन कैसे छूट जाएगा: योगी

लखनऊ। विधानसभा चुनाव से पहले सियासी बयानबाजी और जुमलेबाजी तेज हो गयी है। इस दौरान सत्ताधारी दल बीजेपी जनता से लोक कल्याणकारी वादों के साथ चुनावी वादे भी कर रही है। सीएम योगी ने अमरोहा में एक जनसभा को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि जब अयोध्या में राम मंदिर बना, काशी में विश्वनाथ का धाम बना तो मथुरा-वृंदावन कैसे छूट जाएगा। सीएम योगी के इस बयान के बाद तय हो गया है कि बीजेपी चुनाव में हिंदुत्व के मुद्दे को लेकर आगे बढ़ रही है। काशी, अयोध्या और मथुरा आज भी चुनावी मुद्दा है। सीएम योगी का यह बयान ऐसे सयम में आया है जब मथुरा में भी श्रीकृष्ण जन्मभूमि मंदिर बनाने की मांग तेज हो गई है। अयोध्या में श्रीराम मंदिर के बाद अब हिंदू संगठन लगातार मथुरा में श्रीकृष्ण मंदिर निर्माण के लिए आंदोलन चला रहे हैं। मथुरा को लेकर उत्तर प्रदेश की राजनीति भी गर्म है।

अमरोहा और फर्रूखाबाद में जनसभा को संबोधित करते हुए सीएम योगी ने कहा कि सपा-बसपा या कांग्रेस अयोध्या में कभी राम मंदिर नहीं बनवाती। भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने लोगों की आस्था का सम्मान किया। लोगों के विकास के लिए काम किया है। योगी आदित्य ने कहा कि हमने कहा था अयोध्या में प्रभु श्रीराम का भव्य मंदिर निर्माण का कार्य प्रारंभ कराएंगे। मोदीजी ने कार्य प्रारंभ करा दिया है न। अभी काशी में भगवान विश्वनाथ का धाम का भी भव्य रूप से बन रहा है। उन्होंने कहा तो और फिर मथुरा वृंदावन कैसे छूट जाएगा। वहां पर भी काम भव्यता के साथ आगे बढ़ चुका है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने विपक्षी दलों पर निशाना साधा।

उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी और मायावती के लिए उनका परिवार ही राज्य थे लेकिन बीजेपी के लिए राज्य की 25 करोड़ आबादी उसका परिवार है। बीजेपी ने पूरे उत्तर प्रदेश परिवार की समृद्धि को ध्यान में रखते हुए कई योजनाएं बनाईं हैं। योगी आदित्यनाथ ने अखिलेश यादव, मायावती और राहुल-प्रियंका पर निशाना साधते हुए कहा कि जब कोरोना संकट आया तब बुआ-बबुआ और भाई-बहन नजर नहीं आये। अब जब वो वोट मांगने आएं तो पूछना उनसे कि उनकी सरकार में गरीबों को मुफ्त राशन और घर क्यों नहीं मिला।

यह भी पढ़ेंः-मालेगांव ब्लास्ट में गवाह का सच आने पर तल्ख हुए योगी, हिन्दुओं पर झूठे मामले के लिए माफी मांगे कांग्रेस