Home उत्तर प्रदेश लखनऊ लखनऊ में जज के बेटे ने काटा बवाल, नो पार्किंग कार उठाने...

लखनऊ में जज के बेटे ने काटा बवाल, नो पार्किंग कार उठाने पर रौब दिखाते हुए बोला-थप्पड़ खाओगे…

काफी देर तक वह कर्मचारी और ट्रैफिक पुलिस करने से उलझता रहा। इतना ही नहीं उसने रौब में कई लोगों को फोन भी किया लेकिन जब कुछ काम नहीं आया तो 1100 रुपए शमन शुल्क अदा करने के बाद गाड़ी छुड वाली।

0
217
up news

Lucknow: जब किसी के घर का कोई भी सदस्य किसी ऊंचे पद पर बैठा होता है तो उसके घर वाले और उनके बच्चे बौखला जाते हैं। कहा जाता है कि बच्चों को अच्छे संस्कार देना चाहिए जो अपने पिता के पद का गलत इस्तेमाल न करें। शनिवार को लखनऊ के हजरतगंज से बहुत हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। जिसमें नो पार्किंग जोन में खड़ी कर उठने पर एक न्यायिक अधिकारी के बेटे ने खूब बवाल काटा। इतना ही नहीं उसने पुलिसकर्मियों को धमकी तक दे डाली। उसने कर्मचारियों को अपशब्द कहे और बोला थप्पड़ खाओगे तभी छोड़ोगे गाड़ी। काफी देर तक वह कर्मचारी और ट्रैफिक पुलिस करने से उलझता रहा। इतना ही नहीं उसने रौब में कई लोगों को फोन भी किया लेकिन जब कुछ काम नहीं आया तो 1100 रुपए शमन शुल्क अदा करने के बाद गाड़ी छुड वाली।

नो पार्किंग जोन में खड़ी गाड़ी को उठा ले गए थे पुलिसकर्मी

दरअसल हजरतगंज में एक कर नो पार्किंग जोन में खड़ी थी। जिसे ट्रैफिक पुलिस ने देखा तो लाउडस्पीकर से बोलना शुरू किया यह गाड़ी उठाई जा रही है। करीब 2 मिनट तक लगातार होने के बाद भी जब कोई नहीं आया तो पुलिस ने क्रेन से कार उठवा ली। कुछ देर बाद एक लड़का पहुंचा और सरेआम खुद को जज का बेटा बताकर क्रेन कर्मचारियों को अपशब्द कहने लगा। बेटे के सिफारिश में पुलिसकर्मी के पास खुद युवक के पिता का फोन आया और गाड़ी छुड़वाने की बात कही। हालांकि बाद में पुलिस को पता चला कि लड़के की गाड़ी पर जिला जज लिखा था लेकिन वह एडीजे हैं। हालांकि पुलिस कर्मियों ने तभी गाड़ी छोडी जब 1100 शुल्क अदा की।

दो दिन पहले ही लड़कों ने काटा था बवाल

आपको बता दें इससे दो दिन पहले दो युवकों ने पुलिस के साथ अभद्रता की थीं। पुलिस के साथ गलत व्यवहार करने पर उन्हें थाने ले जाया गया। बताया जा रहा है नो पार्किंग में गाड़ी खड़ी करने वाले दो युवक जुर्माना नहीं दे रहे थे। जिसकी वजह से लड़कों ने पुलिस के साथ हाथापाई की आखिरकार उनके खिलाफ शांति भंग करने की कार्रवाई की गई।

Read More-Basti: पूर्व विधायक व समाजसेवी राना कृष्ण किंकर सिंह का हुआ निधन, अपने आवास पर ली अंतिम सांस