Indian cricketer

भारतीय क्रिकेट टीम से गेम खेल चुके कर्नाटक के तेज गेंदबाज कहे जाने वाले अभिमन्यु मिथुन ने एकदम से फर्स्ट क्लास क्रिकेट से संन्यास लेने का ऐलान कर दिया है. साल 2010 में मिथुन ने भारतीय टीम की ओर से टेस्ट क्रिकेट में कदम रखा था. हालांकि, उन्होंने भारतीय क्रिकेट टीम में करियर बहुत कम समय के लिए खेल खेला लेकिन वह फर्स्ट क्लास क्रिकेट में काफी लंबे समय तक खेले है.

भारतीय नेशनल टीम से खेल चुके हैं केवल 7 मुकाबले

भारत की ओर से अभिमन्यु मिथुन ने टेस्ट क्रिकेट में 4 मैच खेलें, जिसमें उन्होंने 9 विकेट लिये थे. उन्होंने 5 वनडे में 3 विकेट हासिल किए थे. मिथुन ने फर्स्टकर्नाटक के तेज गेंदबाजअभिमन्यु मिथुन ने क्रिकेट से लिया संन्यास, 10 साल पहले टीम इंडिया की तरफ से खेला था आखिरी मैच क्लास और लिस्ट A में कई मुकाबले खेले. फर्स्ट क्लास क्रिकेट में उन्होंने 103 मुकाबले खेले हैं, जिसमें उन्होंने 338 विकेट बनाए. जबकि लिस्ट A और T20 मैचों में 205 विकेट उन्होंने अपने नाम किये हैं.

पाई सबसे बड़ी उपलब्धि

अपने संन्यास को लेकर मिथन ने कहा कि ‘मैं अपने देश के लिए खेला यही मेरे लिए सबसे बड़ी उपलब्धि है. इससे जो मुझे खुशी मिली है मैं उसे हमेशा याद रखूंगा. उन्होंने कहा कि मैंने संन्यास का निर्णय अपने भविष्य और परिवार को देखकर लिया है. मैं यह भी कहना चाहता हूं कि कर्नाटक में युवा तेज गेंदबाज भरपूर मात्रा में हैं, अगर मैं सही समय पर संन्यास नहीं लूंगा तो वो मौका गंवा देंगे.’

इस तरह बने क्रिकेटर

मालूम हो कि अभिमन्यु मिथुन पहले डिस्कस थ्रोअर थे, पर उसके बाद उन्होंने क्रिकेट में अपना डेब्यू रखा. क्रिकेट में उन्होंने सबसे पहला कदम दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वनडे खेला था. इसके कुछ महीनों बाद उन्होंने श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट क्रिकेट में भी भाग लिया, लेकिन वो एक लम्बे समय तक नहीं खेले. आईपीएल में भी मिथुन ने रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर, मुंबई इंडियंस और सनराइजर्स हैदराबाद के लिए टोटल 16 मुकाबले खेले थे.

इसे भी पढ़ें-इन पांच फिल्मों में Shahrukh के बेटे Aryan Khan ने किया काम, कमाए लाखों रुपये