लखनऊ: गोमती नदी में उतरेगा सी-प्लेन, चलेंगी स्काई बस…गडकरी ने दी हरी झंडी

0
314
sea plan

देश में बढ़ती आबादी और ट्रैफिक के ध्यान में रखते हुए सरकार ने इससे निजात पाने के लिए एक नया प्लान तैयार किया है। जिसमें देश के ट्रैफिक और यातायात व्यवस्था को एकदम हाईटैक बनाने की बात कही जा रही है। दरअसल गोमती नदी को बचाने और प्रदूषण मुक्त करने के लिए मोदी सरकार साबरमती नदीं की तरह यहां भी सी-प्लेन उतारने की तैयारी में है। इसके अलावा लखनऊ में स्काईबस भी जल्द उतारने की तैयारी है।

दरअसल गृह मंत्री राजनाथ सिंह के लखनऊ के लिए ये प्रस्ताव केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के पास भेजा। जिसे नितिन गडकरी ने सहमति दे दी। नितिन गडकरी ने झूलेवाल वाटिका में आयोजित 1.10 लाख करोड़ रुपये के प्रोजोक्टों के लोकार्पण- शिलान्यास में कार्यक्रम में मोजूद थे। इस दौरान गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि गोमती के विकास पर 1200 करोड़ रूपये खर्च होने है। इस कड़ी मे पहले चरण में 280 करोड़ के कामों के लिए नमामि गंगे परियोजना में बजट मिल चुका है। बाकि बजट भी जल्द अगले चरण के कामों के लिए मिल जाएगा।

राजनाथ सिंह ने कहा कि 2001 में पूर्व प्रधानमंत्री अटलजी के प्रयास से शहीद पथ बना। आज इसके आसपास लखनऊ का विस्तार हुआ। आने वाले समय में 104 किमी लंबी आउटर रिंगरोड के आसपास ऐसा होगा। यहां नए लखनऊ की नींव रखी जाएगी।

सी-प्लेन की खासियत
इस दौरान नितिन गडकरी ने संकेत दिए कि सी-प्लेन के जरिए शहरों को भी आपस में जोड़ा जा सकता है। देश में एयरपोर्ट पर करोड़ो पैसा खर्च किया जाता है। लेकिन अब हमें नदियों का भी इस्तेमाल करना चाहिए। आगरा में यमुना नदी में रिवरपोर्ट बनाने की योजना पर काम कर रहे है। वाराणसी को भी रिवरपोर्ट से प्रयागराज से जोड़कर जलमार्ग खोला जाएगा।

क्या है स्काईबस
समय के साथ आबादी का आंकड़ा बढ़ रहा है। जिससे सड़कों पर ट्रैफिक का लोड भी बढ़ रहा है। ऐसे में रोप-वे की तरह हवा मे झूलते केबल मार्ग पर स्काईबसों का संचालन लोगों को एक से दूसरी जगह ले जाने – आने मे किया जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here