Saturday, February 4, 2023

AAP-कांग्रेस में बन गई बात, इस फॉर्मूले पर जीतेंगे दिल्ली का रण

Must read

- Advertisement -

आखिरकार लंबे ऊहापोह व अटकलों के बाद आप व कांग्रेस के बीच गठबंधन को लेकर बात बन ही गई. कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी की अध्यक्ष शीला दीक्षित व प्रदेश प्रभारी पीसी चाको के साथ मंगलवार को बैठक कर गठबंधन पर मुहर लगा दी. हालांकि, बताया ये भी जा रहा है कि इस गठबंधन को लेकर शीला दीक्षित कमोबेश ख़फा हैं. वहीं, पीसी चाको ने इस गठबंधन को लेकर अपनी सहमति जताते हुए कहा कि दिल्ली में आप व कांग्रेस के मिल जाने से हमें सातों सीटों पर फतह हासिल करने में आसानी होगी. हालांकि, ये फैसला कांग्रेस ने काफी लंबे ऊहापोह के बाद लिया है, जिसे लेकर कांग्रेस पार्टी का कहना था कि इससे कहीं न कहीं सियासी गलियारों में गलत संदेश गया है.

- Advertisement -

4-3… के फॉमुले पर बन गई बात…
पूर्व में अटकलों का पारा चढ़ा हुआ था. कांग्रेस पार्टी में एक ऐसा गुट था, जिसका कहना था कि ये गठबंधन पार्टी के हित के लिए है तो वहीं दूसरा गुट ऐसा भी था, जिसका कहना था कि ये गठबंधन सियासी तौर पर नुकसानदायक साबित होगा, लेकिन तमाम बयानों व अटकलों को दरकिनार करते हुए दोनों ही पार्टी के आलाकमानों ने 4-3 के फॉमुले पर सियासी दोस्ती के लिए हाथ बढ़ाया है. आम आदमी पार्टी दिल्ली में 4 सीटों पर अपने प्रत्याशियों को उतारेगी तो वहीं, कांग्रेस 3 पर.

कमोबेश संशय अभी-भी…
हालांकि, दोनों ही पार्टियों के बीच गठबंधन तो तय माना जा रहा है. दोनों ही सियासी दलों ने 4-3 के फॉमुले पर सियासी दोस्ती के लिए हाथ भी बढ़ा दिया है, लेकिन इसी बीच कांग्रेस ने कहा, ‘गठबंधन तो लगभग-लगभग तय ही है, लेकिन अगर कहीं रोड़ा अटकता हुआ दिखता है, तो पार्टी को अकेले चुनाव लड़ने के लिए तत्पर आमादा रहना चहिए.

गौरतलब है कि दोनों सियासी दलों के बीच गठबंधन को लेकर अटकलो का बाजार तो शुरू से ही गर्म रहा था. हालांकि, गत दिनों कांग्रेस में कुछ ऐसे गुट का भी उदय हुआ था, जिनका कहना था कि ये गठबंधन हमारे लिए सियासी दृष्टिकोण से नुकसानदायक रहेगा. इससे दिल्ली की जनता के बीच गलत संदेश भी जाएगा, ऐसे में हमें इस गठबंधन से बचना चहिए. वहीं, कुछ ऐसा गुट भी था, जो इस गठबंधन के पक्ष में नजर आ रहा था, उनका कहना था कि अगर हम चाहते हैं कि हम दिल्ली में सियासत में अपना पताका लहराएं तो इसके लिए हमें आप से गठबंधन करना ही होगा.

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article