Friday, December 3, 2021

PATNA GANDHI MAIDAN BLAST : मोदी की सभा में विस्फोट करने वाले चार को फांसी, दो को उम्रकैद

Must read

- Advertisement -

पटना। पटना के गांधी मैदान में आठ साल पहले हुए ब्लास्ट मामले में NIA कोर्ट ने सोमवार को नौ दोषियों को सजा का ऐलान किया है। एनआईए के विशेष न्यायाधीश गुरुविंदर सिंह मल्होत्रा ने दोनों पक्षों की बातों को सुनने के बाद चार दोषियों को फांसी और दो को उम्रकैद की सजा सुनाई है। अदालत ने दो दोषियों को 10 साल की सजा, जबकि एक को सात साल की सजा का ऐलान किया है।
एनआईए कोर्ट द्वारा दोषी ठहराये गये हैदर अली, नोमान अंसारी, मो. मुजिबुल्लाह अंसारी और इम्तियाज आलम को फांसी की सजा सुनाई गयी है। उमर सिद्दीकी और अजहरुद्दीन कुरैशी को उम्रकैद की सजा का ऐलान है। अहमद हुसैन व मो. फिरोज असलम को दस-दस साल और इफ्तिखार आलम को सात साल की सजा सुनाई गई है।

- Advertisement -

patna blast

NIA कोर्ट ने 27 अक्टूबर को इस मामले में दस में से नौ आरोपियों को दोषी माना था। आरोपी फकरुद्दीन को कोर्ट ने साक्ष्य के अभाव में बरी कर दिया था। जिन आरोपियों को कोर्ट ने दोषी माना था उसमें हैदर अली, नोमान अंसारी, मो. मुजिबुल्लाह अंसारी, इम्तियाज आलम, अहमद हुसैन, मो. फिरोज असलम, इम्तियाज अंसारी, मो. इफ्तिकार आलम, अजहरुद्दीन कुरैशी के नाम शामिल हैं। सोमवार को इन सभी दोषियों को एनआईए कोर्ट में लाया गया।

patna blast 1

 मोदी की रैली में किया था सीरियल ब्लास्ट

ज्ञात हो कि 27 अक्टूबर, 2013 के दिन पटना के गांधी मैदान में हुंकार रैली थी, जिसमें बीजेपी के प्रधानमंत्री पद के तत्कालीन उम्मीदवार नरेंद्र मोदी भी मौजूद थे। इस दौरान एक के बाद एक सिलसिलेवार बम ब्लास्ट हुआ था। गांधी मैदान से पहले एक धमका पटना जंक्शन पर हुआ था। इस धमाके में छह लोगों की मौत हो गई थी जबकि करीब 89 लोग घायल हुए थे। इस मामले का अनुसंधान एनआईए ने अगले दिन से ही शुरू कर दिया था और महज एक साल के अंदर 21 अगस्त 2014 को कुल 11 अभियुक्तों के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल किया था।

एनआईए की टीम ने इस मामले में हैदर अली, नोमान अंसारी, मो. मुजिबुल्लाह अंसारी, इम्तियाज आलम, अहमद हुसैन, फकरुद्दीन, मोहम्मद फिरोज असलम, इम्तियाज अंसारी, मो. इफ्तिकार आलम, अजहरुद्दीन कुरैसी और तौफिक अंसारी को गिरफ्तार किया था। गांधी मैदान ब्लास्ट का मास्टरमाइंड हैदर अली और मोजिबुल्लाह था। बताया जाता है कि बम धमाके के बाद वो डर गया था इसलिए मौके से भागने की कोशिश की लेकिन तब तक पुलिस मौके पर पहुंच गई और उसे दबोच लिया गया था। उसे भागने का मौका नहीं मिला। इस बीच पूछताछ के दौरान उसने जुर्म कर लिया। उसने पूछताछ में बताया था कि वो अपनी पूरी टीम के साथ गांधी मैदान में हुंकार रैली को दहलाने के लिए पहुंचा था। गिरफ्तार आतंकी इम्तियाज से जब एनआइए की टीम ने सख्ती से पूछताछ शुरू की तो उसने कई नाम और बताये। जिसके बाद मास्टर माइंड मोनू उर्फ तहसीन समेत दो दर्जन से अधिक आतंकियों को जांच एजेंसी ने जब दबोचा लिया। पकड़े गये आरोपियों से बोध गया ब्लास्ट मामले का खुलासा भी इसी आतंकी के बयान से हुआ था।

यह भी पढ़ेंः-PATNA GANDHI MAIDAN  BLAST :  मोदी की सभा में विस्फोट करने वाले 9 दोषी करार, 1 NOV  सुनाई जाएगी सजा

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article