Categories
मनोरंजन

14 साल पहले बेटी की विदाई में भावुक हो गए थे ऋषि कपूर, ऐसे किया था अपनी लाडो का कन्यादान

बॉलीवुड के चिंटू के निधन को एक सप्ताह हो चुका है. मगर फैंस और परिवार को उनकी याद अब भी बार-बार भावुक कर रही हैं. सोशल मीडिया पर लगातार उनकी जुड़ी बहुत सी यादें शेयर की जा रही हैं. जिन्हें देखकर यकीन ही नहीं होता कि, अब ऋषि कपूर (Rishi Kapoor) हमारे बीच नहीं रहे. वैसे तो ऋषि अपने पूरे परिवार के काफी करीब थे मगर एक पिता के नाते उनका रिश्ता बेटी रिद्धिमा (Riddhima Kapoor Sahni) के साथ काफी गहरा था. हालांकि, पिता के निधन के बाद लॉकडाउन के कारण रिद्धिमा अंतिम संस्कार में शामिल नहीं हो पाई. पर पापा के जाने का दुख उन्हें सबसे ज्यादा है.

धूमधाम के साथ की थी बेटी की शादी
जिस तरह एक पिता बचपन से ही अपनी बेटी की शादी को लेकर लाखों सपना देखता है उसी तरह ऋषि भी अपनी बेटी की शादी को लेकर काफी सोचा करते थे. 14 साल पहले उन्होंने बड़े ही अरमानों के साथ रिद्धिमा की शादी की थी. बेटी की शादी की तस्वीरें इस समय काफी वायरल हो रही हैं जिनमें चिंटू अपनी प्यारी सी लाडो का कन्यादान करते नजर आ रहे हैं. ऋषि (rishi kapoor) ने बेटी की शादी में शेरवानी के साथ गोल्डन पगड़ी पहनी है जो उन पर काफी अच्छी लग रही है.riddhima-shadi-rishi वायरल हो रही तस्वीरों में रिद्धिमा अपने पति भारत साहनी और भाई रणबीर के साथ दिखाई दे रही हैं. रणबीर भी तस्वीरों में भाई का फर्ज निभाते हुए नजर आ रहे हैं.

पिता के जाने का गम
ऋषि कपूर और नीतू के दो बच्चे हैं. जिसमें रिद्धिमा अपने भाई से 2 साल बड़ी हैं और 2006 में ही उनकी शादी दिल्ली के बिजनेसमैन भारत साहनी से हुई. रिद्धिमा की एक बेटी समारा है जो उन्हीं की तरह बेहद प्यारी हैं. रिद्धिमा अपने पति और बेटी के साथ दिल्ली में ही रहती हैं. पर जब उन्हें पिता के निधन की खबर मिली तो वह तुरंत मुंबई आना चाहती थीं मगर लॉकडाउन के कारण संभव नहीं था.ranbir-kapoor-sister-marriage ऐसे में जब उन्होंने सरकार से इजाजत मांगी तो उन्हें सड़क रास्ते के जरिए मुंबई जाने की परमिशन मिली. इस वजह से वह अंतिम संस्कार में शामिल नहीं हो पाई. पिता को आखिरी बार भी न देख पाने का गम रिद्धिमा को हमेशा रहेगा.

ये भी पढ़ेंः- यादों में चिंटू की आखिरी इच्छा, मौत को गले लगाने से पहले बेटे रणबीर से चाहते थे यह तोहफा..