Saturday, March 2, 2024

सावन के महीने में ही मायके क्यों जाती है महिलाएं? जाने इसके पीछे की बड़ी वजह

Sawan 2023: हिंदू धर्म में सावन माह की बहुत बड़ी मान्यता है। सावन का महीना भगवान शिव से जुड़ा हुआ माना जाता है। सावन के महीने में भगवान शिव का आशीर्वाद लेने के लिए महिलाएं पूजा-अर्चना करती है और उन्हें मनवांछित फल भी प्राप्त होता है। इस बार सावन के महीने में मलमास लग रहा है जिसके कारण इस बार सावन तो पड़ रहे हैं। 4 जुलाई से सावन लग रहा है और 30 अगस्त तक सावन रहेगा। मान्यता है कि सावन में महिलाएं अपने मायके जरूर चली जाती। इसके पीछे के कुछ कारण भी बताए गए हैं।

गर्मी से बचने के लिए: सावन के महीने में महिलाएं इसलिए मायके जाती है ताकि गर्मी से थोड़ी उन्हें राहत मिल पाए। क्योंकि सावन का महीना मानसून के मौसम के दौरान आता है जो देश के कई हिस्सों में काफी उमस भरा और असुविधाजनक रहता है।

सांस्कृतिक कार्यक्रमों में भाग लेने के लिए: महिलाएं सावन के महीने में इसलिए मायके ज्यादा जाती हैं। क्योंकि सावन के दौरान सांस्कृतिक गतिविधियों और कार्यक्रमों का आयोजन होता है जिसमें वह धार्मिक समारोह में भाग ले लेती हैं।

भगवान शिव का आशीर्वाद: सावन का महीना भगवान शिव का माना जाता है इस दौरान जो भी शिव की आराधना करता है उसे फल मिलता है और आशीर्वाद ही प्राप्त होता है। महिलाएं भगवान शिव की आराधना करने के लिए भी मायके जाती हैं।

व्रत रखने के लिए: सावन में सोमवार का व्रत रखने से सभी फलों की प्राप्ति होती है। कई महिलाएं भगवान शिव का आशीर्वाद पाने के लिए सोमवार के महीनों में व्रत रखने के लिए मायके जाती हैं।

(Disclaimer: यहां पर प्राप्त जानकारी सामान्य मान्यता और जानकारियों पर आधारित है। Up Varta News इसकी पुष्टि नहीं करता है।)

Read More-सावधान! इन 2 राशियों पर नवंबर तक रहेगा शनि की साढ़ेसाती का प्रभाव, मुश्किलों से बचने के लिए कर ले ये उपाय

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles