कोरोना पर ब्रेक लगाने के लिए योगी सरकार ने किया बड़ा ऐलान, अब संक्रमितों को दी जाएगी ये मेडिसिन

530
Ivermectin Tablet in U.P.

कोरोना वायरस (Corona Virus In UP) का कहर दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है, जो अब पूरे देश के लिए मुसीबत बन चुका है. इस वायरस की रोकथाम के लिए हर संभव प्रयास किया जा रहा है. बावजूद इसके कि ये महामारी थमने की बजाय लगातार बढ़ती जा रही है. इस बीच उत्तर प्रदेश में भी कोरोना की रोकथाम के लिए कई कानून लागू करने के साथ ही उपाय भी किए जा रहे हैं. लेकिन वायरस का आतंक बढ़ता जा रहा है. जिसे देखते हुए योगी सरकार (Yogi Government) ने नया ऐलान किया है. दरअसल कोरोना मरीजों (Corona patients) के इलाज और बचाव के लिए आइवरमेक्टिन टैबलेट का इस्तेमाल करने का निर्देश जारी किया गया है.

ये भी पढ़ें:- देश की सबसे लंबी 628 km एक्सप्रेस वे पर जल्द शुरू होगा काम, योगी सरकार ने किया ऐलान

जानकारी के माने तो इस आइवरमेक्टिन टैबलेट (Ivermectin Tablet) को हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन (Hydroxychloroquine) की जगह इस्तेमाल करने के लिए कहा गया है. ये दवा कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों को देने के साथ ही स्वास्थ्यकर्मियों को भी देने की बात कही गई है. दरअसल इन मेडिसिन का इस्तेमाल दिल्ली के एम्स, लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज और मैक्स हॉस्पिटल समेत देश के कई बड़े अस्पतालों में भी किया जा रहा है. ऐसे में आइवरमेक्टिन टैबलेट का इस्तेमाल योगी सरकार ने प्रदेश के अस्पतालों में कोरोना से जंग लड़ रहे मरीजों को भी देने का ऐलान किया है.

इसके साथ ही स्वास्थ्य विभाग की ओर से कोरोना पॉजिटिव मरीजों के संपर्क में आए लोगों को भी ये दवा देने के लिए कहा गया है. ताकि उन्हें संक्रमित होने से पहले ही बचाया जा सके. जानकारी के मुताबिक इस मेडिसिन को लेकर 4 अगस्त को चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवा विभाग, उत्तर प्रदेश के महानिदेशक की अध्यक्षता में तकनीकी विशेषज्ञों की मीटिंग हुई थी. जिसमें कोरोना के इलाज और बाकी लोगों के बचाव के लिए आइवरमेक्टिन टैबलेट का इस्तेमाल करने पर काफी देर तक बातचीत चली थी. इसके बाद अगले दिन ये ऐलान किया गया था कि इस दवा का इस्तेमाल अस्पतालों में मरीजों के लिए जाएगा.

ये भी पढ़ें:- योगी सरकार की बढ़ी मुसीबत, कोरोना पॉजिटिव आने पर फरार हुए 2290 मरीज, प्रशासन के बीच हड़कंप