Saturday, December 4, 2021

बढ़ती जनसंख्या पर योगी सरकार की गड़ी निगाहें, दो बच्चे वालों के लिए भी है ये बुरी खबर, जानें वजह

Must read

- Advertisement -

जनसंख्या नियंत्रण कानून को लेकर बीते साल देश के PM नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने इस पर लगाम लगाने की बात कही थी. साथ ही इस पर बिल लेकर आने की भी खबर सामने आ रही थी. ऐसे में हाल ही में एक और खबर ने सबका रूख उत्तर प्रदेश की ओर मोड़ दिया है. बताया जा रहा है कि योगी सरकार जनसंख्या नियंत्रण पर कड़े कानून बनाने की प्लानिंग कर रही है. मीडिया रिपोर्ट के हवाले से आई जानकारी के मुताबिक यदि यूपी में रहने वाले एक शख्स के दो बच्चे हैं, तो उसके लिए बड़ी मुसीबत खड़ी हो सकती है. ऐसे में वो व्यक्ति सामाजिक कल्याण योजनाओं या पंचायत चुनाव में हिस्सा लेने का अधिकार खो सकते हैं.

- Advertisement -

ये भी पढ़ें:- जनसंख्या नियंत्रण पर मोदी सरकार का मंथन आज से शुरू, जल्द आएगा बड़ा फैसला

अन्य राज्यों की नीतियों पर हो रहा है अध्ययन
इस बारे में योगी सरकार के स्वासथ्य मंत्री जयप्रताप सिंह का बयान आया है, जिसमें उन्होंने कहा है कि, जनसंख्या नीति के बारे में जल्द ही घोषणा की जाएगी. लेकिन अभी और राज्यों की नीतियों के विषय पर गहन अध्ययन चल रहा है. ऐसे में जनसंख्या नियंत्रण पर हम और राज्यों से बिल्कुल हटकर, और अच्छी नीति लेकर आएंगे. इसके आगे उन्होंने ये भी बताया है कि, विशेषज्ञों की टीम कॉन्ट्रैक्ट पर काम कर रही है. हालांकि इससे पहले भी वर्ष 2000 में जनसंख्या नीति की समीक्षा की गई थी.

ये भी पढ़ें:- बहुत बड़ा फैसला ले सकती है सरकार अब दो से ज्यादा बच्चे पैदा वाले हो सकते हैं अपराधी

फिलहाल राज्य सरकार का ये कहना है कि दक्षिण भारत के राज्य जनसंख्या पर नियंत्रण पाने में पूरी तरह से कामयाब हो चुके हैं. लेकिन उत्तर भारत के जितने भी राज्य हैं, वो अभी भी इसके लिए संघर्ष कर रहे हैं. साथ ही ये भी कहा गया है कि राजस्थान और मध्य प्रदेश भी जिनके ज्यादा बच्चे हैं, उनको सुविधाएं देना कम कर दिया गया है. साथ ही इन्हें पंचायत चुनाव में हिस्सा लेने से भी मना कर दिया गया है. ऐसे में अब योगी सरकार भी इस नीति पर काम करने पर जोर दे रही है.

ये भी पढ़ें:- आर्थिक मंदी पर कांग्रेस नेता का बड़ा बयान, बढ़ती जनसंख्या को बताया जिम्मेदार

सामाजिक सुरक्षा नीतियों से वंचित करने पर विचार जारी
मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक ये भी जानकारी सामने आ रही है कि जिन लोगों के दो से ज्यादा बच्चे हैं, उन्हें सामाजिक सुरक्षा से वंचित किया जा सकता है और इस पर चर्चा भी जारी है. लेकिन इस पर एक अधिकार के आए बयान के अनुसार, ‘यह फैसला करना बहुत ही कठिन है, कई राज्य जिन सरकारी कर्मचारियों के दो से ज्या दा बच्चेव हैं, उन्हें स्कूल फीस और भत्ते रिम्बकर्स नहीं करते.

ये भी पढ़ें:- यूपी के विकास के लिए योगी कैबिनेट ने इन प्रस्तावों पर लगाई मुहर, जानें जरूरी फैसले

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article