Categories
उत्तर प्रदेश लखनऊ

योगी ने भरी हुंकार, भूखों को रोटी देना महापुण्य, पिछली सरकारों में होती थी मौतेें

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को राजधानी लखनऊ में फ्री राशन वितरण अभियान का शुभारंभ किया। इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए सीएम योगी ने कहा कि हमारा शास्त्र भी कहता है कि भूखे को रोटी महापुण्य का काम और अगर सरकारी योजना से जोड़कर दे तो और भी महापुण्य ही है। सीएम योगी ने योजना के लिए शुभारंभ करने के साथ पीएम नरेंद्र मोदी का आभार जताया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दस लोगों को राशन प्रदान किया।  उन्होंने कहा कि आज हम गरीबों को जो निःशुल्क राशन दे रहे हैं। 2017 से पहले यही खाद्यान माफिया के पास चला जाता था। माफिया खरीबों को खाना बेच देत थे। गरीब टकटकी लगाए देखता था। गरीब के हक का खाद्यान दूसरे देश चला जाता था।

सीएम योगी ने कहा कि प्रदेश में पहले काफी खाद्यान्न घोटाला हुआ। पिछली सरकार के कार्यकाल में सैकड़ों लोगों की भूख से मौत हुई लेकिन सरकार माफिया के दबाव में रही। डबल इंजन की सरकार का डबल खाद्यान्न का लाभ भी सबको मिल रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत मुफ्त खाद्यान्न वितरण कार्यक्रम शुरू किया है। इस योजना से उत्तर प्रदेश में 15 करोड़ लोगों को फायदा होगा।

उत्तर प्रदेश सरकार ने भी तीन महीने की अवधि के लिए मुफ्त खाद्यान्न वितरित किया है। 2021 में कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी लहर के बाद हमने इस योजना के तहत लगभग सात महीने रामनवमी से दिवाली तक मुफ्त अनाज दिया। इसे अब होली तक बढ़ाया है। लाभार्थी दिवाली से होली तक महीने में दो बार अनाज ले सकते हैं। राशन दुकानों से दाल, खाद्य तेल और नमक भी मुफ्त दिया जा रहा है। बता दें कि प्रदेश सरकार ने कोरोना काल में भी गरीबों और बेसहारा लोगों की मदद की। 80 हजार कोटेदारों के माध्यम से राशन वितरण अभियान को हर गरीब तक पहुंचाने का बड़ा काम किया है।

यह भी पढ़ेंः-YOGI सरकार 15 करोड़ से अधिक राशन कार्ड धारकों का देगी फ्री राशन, महाअभियान की शुरूआत शीघ्र