cm yogi smartphone

लखनऊ। कोविड की रोकथाम में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वालीं आंगनबाड़ी कार्यकत्रियां अब स्मार्टफोन से लैस हो गई हैं। अब उनके काम में गति आयेगी। मंगलवार को लोकभवन में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 1 लाख 23 हजार आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को स्मार्टफोन वितरित किया है। इसके साथ ही नवजात बच्चों की वृद्धि का स्तर मापने के लिए प्रदेश के हर आंगनबाड़ी केंद्र को नवजात वृद्धि निगरानी यंत्र (इंफेंटोमीटर) भी प्रदान किया है। मुख्यमंत्री ने आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओ को स्मार्टफोन वितरण कार्यक्रम में इनके मानदेय में और भी बढ़ोतरी का आश्वासन दिया। सीएम योगी ने आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को प्रेरित करते हुए कहा कि उन्होंने कई साहसिक काम किया है।

cm yogi smartphone 1

इस दौरान उन्होंने कहा कि पिछले दिनों जो मानदेय बढ़ाया गया था वह परफॉर्मेंस आधारित था। यह पिछला बकाया था जो उन्हें दिया गया था। उन्होंने कहा कि अब तो फिर आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं मानदेय बढ़ाया जाएगा। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सीएम योगी ने कहा कि पिछले साढ़े चार साल में एक लंबी दूरी तय किया है। हर एक विभाग ने कुछ नया किया है। आज से 4 साल पहले क्या स्थिति थी आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को देखकर हम भय खाते थे। उन्हांेने कहा कि आज परिवर्तन हुआ है। सीएम योगी ने आगे कहा कि तकनीकी के माध्यम से शासन की योजनाओं को हर नागरिक तक पहुंचाने का कार्य करेंगे। तकनीकी के लिए आवश्यक संसाधन उन लोगों को पहुंचाने का कार्य करें जो समाज के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचने का कार्य करते हैं।

cm yogi smartphone 2

सीएम योगी ने कहा कि आज का कार्यक्रम महत्वपूर्ण है। यह स्मार्टफोन वितरण या डिवाइस वितरण का कार्यक्रम ही नहीं है, बल्कि ये सुशासन को अंतिम व्यक्ति तक पहुंचाने का है। उन्होंने कहा कि कोई भी व्यक्ति कितना भी बुद्धिमान हो, जबतक उसका काम लोककल्याण के लिए न आए तब तक कोई अस्तित्व नहीं है। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि एक समय यूपी को फोकस करके मीडिया ट्रायल शुरू हो गया था, जबकि कोरोना अन्य राज्यों में भी था। हम पर हर ओर से हमले करके और कठघरे में खड़ा करने की कोशिश हुई। तब हमने तय किया कि निगरानी समिति का गठन किया जाये। हमने दूसरी लहर में अप्रैल के महीने में निगरानी समिति का गठन कर दिया था।

यह भी पढ़ें-सिद्धू के इस्तीफा देने के पीछे क्या सीएम चन्नी है बड़ी वजह? खत में सोनिया गांधी को कही ये बातें

Publish By : Rama Kant Pandey and Follow On Twitter