yogi aditynath

लखनऊ। अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे के बाद उत्तर प्रदेश में सियासी गरमी बढ़ती जा रही है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरूवार को  विधानसभा में विरोधियों पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि अफगानिस्तान में महिलाओं पर अत्याचार हो रहा है लेकिन कुछ लोग बेशर्मी के साथ तालिबान का समर्थन कर रहे हैं। तालिबान का समर्थन करने वाले एक तरफ महिलाओं के उत्थान की बात करते हैं, ऐसे लोगों की सच्चाई सामने आनी चाहिए। ज्ञात हो कि समाजवादी पार्टी के सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने तालिबान के समर्थन में बयान दिया था। उन्होंने तालिबान की तुलना स्वतंत्रता सेनानियों से की थी और कहा था कि तालिबानियों ने मुल्क को आजाद करवाया है। सपा सांसद के बाद शफीकुर्रहमान बर्क पर देशद्रोह का मामला दर्ज हो गया था। गुरूवार को मशहूर शायर मुनव्वर राणा ने भी विवादित बयान दिया और कहा कि यूपी में भी तालिबान जैसा काम हो रहा है। ऑल इंडिया पर्सनल लॉ बोर्ड के प्रवक्ता मौलाना सज्जाद नोमानी और पीस पार्टी के शादाब चैहान ने भी तालिबान का समर्थन किया।

सीएम योगी ने गिनाई सरकार की योजनाएं
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अनुपूरक बजट पेश किए तथ्यों की बात की। सीएम योगी ने कहा कि बजट में युवाओं को रोजगार देने के लिए बात की गई है। एक करोड़ युवाओं को स्मार्ट फोन देने की योजना है। उन्होंने विपक्षियों पर निषाना साधते हुए कहा कि जो पहले अयोध्या में झांकते तक नहीं थे, आज कह रहे हैं कि राम हमारे हैं। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सरकारी कर्मचारियों और पेंशनर्स के लिए मंहगाई भत्ता में वृद्धि की गई है, केंद्र पहले ही इसमें बढ़ोतरी कर चुकी है।

सीएम योगी ने दावा किया कि देश में आज दूसरे नंबर की अर्थव्यवस्था उत्तर प्रदेश की है। मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि पिछले 5 वर्ष के दौरान प्रदेश में बजट का दायरा लगभग दोगुना हुआ है। वर्तमान में हम लगभग 6 लाख करोड़ रुपये तक बजट के दायरे को पहुंचाने में सफल रहे हैं। कभी यूपी सिर्फ दंगों में नंबर एक रहता था, लेकिन अब यहां एक भी दंगा नहीं होता है।

यह भी पढ़ेंः-तालिबान को आतंकी नहीं मानते शायर मुनव्वर राणा, भारत की आजादी की लड़ाई से जोड़ कर कही ये बात