Categories
उत्तर प्रदेश लखनऊ

15 दिसम्बर से शुरू होगा शीतकालीन सत्र, योगी सरकार करेगी कई घोषणायें

लखनऊ। उत्तर प्रदेश विधानमंडल का शीतकालीन सत्र 15 दिसंबर से शुरू होगा। विधानसभा चुनाव को देखते हुए योगी सरकार अगले वित्तीय वर्ष के लिए पूर्ण बजट लाने के बजाए चार महीने का लेखानुदान इस सत्र में पास करवायेगी। लेखानुदान के साथ ही वर्तमान वित्तीय वर्ष का दूसरा अनुपूरक बजट लाये जाने की तैयारी है। मौजूदा 17 वीं विधानसभा का यह संभवतः आखिरी सत्र होगा। शीतकालीन सत्र में सरकार कई महत्वपूर्ण घोषणाएं भी करने वाली है। सरकार के स्तर पर अभी सत्र का कार्यक्रम तय होना है। इसी सत्र के बीच योगी सरकार की कैबिनेट बैठक वाराणसी में 16 दिसंबर को प्रस्तावित है। काशी विश्वननाथ मंदिर कारीडोर के लोकार्पण की तैयारियों व अन्य आयोजनों की समीक्षा के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ वहां कई दिन प्रवास करेंगे। यह पहला अवसर पर होगा कि वाराणसी के विश्वनाथ मंदिर में कैबिनेट बैठक होगी।

वित्त विभाग ने 2022-23 के लिए लेखानुदान तैयार किया

विधानसभा चुनाव की तैयारियों के बीच प्रदेश सरकार ने लेखानुदान तैयार भी कर लिया है। जुलाई तक के लिए प्रस्तुत किए जाने वाले लेखानुदान का आकार करीब पौने दो लाख करोड़ रुपये का हो सकता है। सरकार चालू वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए दूसरा अनुपूरक बजट भी ला सकती है। लेखानुदान के तहत नये वित्तीय वर्ष में जुलाई माह तक के लिए जरूरी खर्चों के लिए बजट का प्रारूप तैयार कर लिया है। बताया जा रहा है कि सरकार लेखानुदान इसी 15 दिसंबर को सदन में प्रस्तुत करने वाली है।

अनुपूरक के माध्यम से एक्सप्रेस-वे और जेवर एयरपोर्ट के लिए और धनराशि का आवंटन होगा। धनराशि के आवंटन के बाद दोनों परियोजनाओं का काम शुरू होगा। मथुरा के पर्यटन व धार्मिक विकास के मद में भी सरकार कई नई घोषणा कर सकती है। हाल के दिनों में राजनीतिक हल्के में काशी, अयोध्या के बाद मथुरा की चर्चा तेज हो चुकी है। मथुरा के लिए अनुपूरक से कुछ खास देने का इंतजाम करने का अनुमान लगाया जा रहा है। स्कालरशिप के मद में भी और बजट का इंतजाम अनुपूरक के माध्यम से किए जाने की उम्मीद है।

यह भी पढ़ेंः-सीएम योगी का विपक्ष पर हमला, दुर्दांत माफिया की सरपरस्त है समाजवादी पार्टी