अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए दान में आया एक क्विंटल सोना-चांदी, जानें किसने दिया

1530
temple

5 अगस्त 2020 के दिन अयोध्या में राम मंदिर के लिए भूमि पूजन का भव्य कार्यक्रम संपन्न हो गया है। जिसके बाद अब अयोध्या में रामजन्मभूमि पर मंदिर निर्माण का कार्य जल्द शुरू हो जाएगा। इस मंदिर के निर्माण का राम भक्तों ने सालों से इंतजार किया है। जिस वजह से जैसे ही मंदिर के निर्माण के लिए दान देने का समय आया है। तो राम भक्त भी दिल खोलकर दान दे रहे है लेकिन इसी बीच श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास ने शनिवार को एक क्विंटल सोना-चांदी और पैसे राम मंदिर ट्रस्ट को सौंप दिया है। ये सारा पैसा मंदिर निर्माण के लिए लगाया जाएगा। जो पिछले काफी समय से ट्रस्ट के अध्यक्ष को दिए जा रहे थे।

राम भक्तों का दान
दरअसल श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल ने ये सारा दान ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय के पास रखवाया है। चंपत राय के मुताबिक, पिछले 2 महीने पहले से ही ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास के पास राम भक्त आ रहे है। इस दौरान तमाम लोगों ने राम मंदिर के लिए कुछ न कुछ दान जरूर दिया था। खास बात ये है कि भक्तों ने राम मंदिर के लिए सोने और चांदी का दान सबसे ज्यादा किया है। इसी वजह से ट्रस्ट के पास अब तक 1 क्विंटल सोना-चांदी इक्ट्ठा हो गया है। जिसे अब सुरक्षित स्थान पर रखवाया गया है। मंदिर के लिए मणिराम दास छावनी के पुजारी दिवंगत बजरंग दास ने भी 40 किलो की चांदी की ईंट दान दी थी। ऐसे में ट्रस्ट के अध्यक्ष के पास कुल मिलाकर एक क्विंटल चांदी रखी थी और सोने के दाने भी थे जिसे आज सुरक्षित जगह पर रखने के लिए ट्रस्ट को सौंपा है।

तीर्थ स्थलों की मिट्टी और जल
बता दें कि राम मंदिर के लिए ट्रस्ट के पास अब तक तकरीबन 30 करोड़ रुपये और कई टन सोना और चांदी दान में मिल चुके हैं। इतना ही नहीं, भक्त अब भी मंदिर के लिए लगातार दान इसी तरह कर रहे है। दूसरी तरफ मंदिर निर्माण के लिए बनाई गई समिति भी निर्माण कार्य में किसी तरह की कमी नहीं छोड़ रही है। ट्रस्ट के लोगों ने राम मंदिर के लिए देश के तमाम तीर्थ स्थलों की मिट्टी और जल मंगवाया है। ट्रस्ट ने भारत के प्राचीन तीर्थ स्थल और समुंद्र सरोवर समेत कुंडों के जल को मंगवाया है। इसके अलावा बुलेंदशहर से द्वादश महा लिंगेश्वर महापीठ 11 वर्षों से अभिमंत्रित रुद्राक्ष, 21 अभिमंत्रित चांदी के सिक्के, 12 ज्योतिर्लिंग की मिट्टी और जल, चांदी के नाग-नागिन के जोड़े, वास्तुदोष निवारण यंत्र और नौ रत्नों को मंगवाया गया है। ये सारा सामान श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास के उत्तराधिकारी महंत कमलनयन दास को सौंपा गया है।

ट्रस्ट की मांग
ट्रस्ट की मांग है कि जितना भी सामान देश के तीर्थ स्थलों से मंगवाया गया है। इन सामानों को राम जन्मभूमि की नींव के अंदर डाला जाए। इससे मंदिर निर्माण के दौरान आने वाली सभी तरह की विपत्ती खत्म हो जाएगी और मंदिर का निर्माण बिना किसी रूकावट के हो जाएगा। क्योंकि राम मंदिर निर्माण का इंतजार भक्तों ने काफी लंबा किया है और अब ट्रस्ट नहीं चाहता कि मंदिर के निर्माण में किसी भी तरह की परेशानी आए।

घर-घर जाएंगे ट्रस्ट के लोग
राम मंदिर निर्माण में सहयोग मांगने के लिए ट्रस्ट के लोग घर-घर जाएंगे। इस दौरान लोगों से मंदिर निर्माण में सहायता देने की अपील होगी। जिसकी तैयारी भी कर ली गई है। ट्रस्ट मुताबिक, राम मंदिर ट्रेस्ट से जुड़े लोग कुछ समय बाद लोगों के घर जाएंगे। इस दौरान सभी राम भक्तों से अपील की जाएगी कि वह भी मंदिर निर्माण में अपना सहयोग दें।

ये भी पढ़ें:-मुगलकाल में जिन 50 परिवारों को जबरन बनाया मुस्लिम, राम मंदिर की नींव डलते ही बन गए हिंदू