Categories
उत्तर प्रदेश

नोएडा के होटल में रची गयी थी UP TET पेपर लीक की साजिश, शिक्षा माफिया ने ऐसे दिया अंजाम

लखनऊ। UP TET पेपर लीक प्रकरण में लगातार आरोपियों पर शिकंजा कसता जा रहा है। नये आरोपी भी दबोचे जा रहे हैं। UP TET पेपर लीक मामले में अब तक की जांच से साफ हो गया है कि एक साजिश के तहत पेपर लीक कराया गया है। साजिश के तहत ही 26 अक्टूबर को आरएसएम फिनसर्व नाम की कंपनी को पेपर प्रिंट कराने का ठेका दिया गया था। आरएसएम फिनसर्व के पास सुरक्षित तरीके से पेपर छापने का इंतजाम तक नहीं था। साजिश रचने वालों को यह मालूम था कि फिनसर्व के पास सुरक्षित तरीके से पेपर छापने का इंतजाम नहीं है और ये पेपर कुछ छोटी और असुरक्षित प्रेस में छपेंगे। शिक्षा माफिया और साल्वर गैंग इसमें आसानी से पेपर लीक करा लेंगे।

पेपर लीक कराने वाले सिंडिकेट से जुड़े लोग ऐसी छोटी, असुरक्षित प्रेसों पर मौजूद थे। पेपर इन प्रेसों में छपा और यहीं से पेपर बेचने वालों के हाथ लग गया। अब तक जांच से जानकारी मिल रही है कि यूपी के प्रमुख गैंग्स ने हाथ मिलाया और परीक्षा से कई घंटे पहले ही यह पेपर उत्तर प्रदेश के कई शहरों में हजारों लोगों के पास पहुंच गया। बताया जा रहा है कि पेपर छापने का ठेका मिलने से पहले ही संजय उपाध्याय और राय अनूप प्रसाद की एक मीटिंग नोएडा के एक बड़े होटल में हुई थी। इस मीटिंग में ही पेपर आउट कराने की साजिश रची गई। इस मुलाकात का सीसीटीवी फुटेज भी जांच एजेंसियों के पास आ गया है जिससे आरोपियों पर और शिकंजा कसता जाएगा।

फिनसर्व के डायरेक्टर और परीक्षा नियामक प्राधिकारी पर कार्रवाई

UP STF  के ADG अमिताभ यश भी कहते हैं कि अब तक की जांच में प्रिंटिंग प्रेस से ही पेपर लीक होने की पुष्टि हो रही है। प्रश्नपत्र लीक मामले में पेपर छापने का टेंडर हासिल करने वाली कंपनी आरएसएम फिनसर्व के डायरेक्टर राय अनूप प्रसाद और इस परीक्षा को आयोजित कराने वाले परीक्षा नियामक प्राधिकारी संजय उपाध्याय समेत अबतक 34 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए लगातार छापेमारी भी चल रही है। गिरफ्तार आरोपियों को जल्द ही पुलिस कस्टडी रिमांड पर लेकर पूछताछ की जाएगी।

ज्ञात हो कि 28 नवम्बर को दो पारियों में यूपी टीईटी परीक्षा होनी थी लेकिन पेपर लीक की की जानकारी के बाद इस परीक्षा को रद कर दिया गया। परीक्षा में 21 लाख से अधिक परीक्षार्थी शामिल होने वाले थे। टीईटी प्राथमिक स्तर की परीक्षा के लिए 13.52 लाख और टीईटी उच्च प्राथमिक स्तर की परीक्षा के लिए 8.93 लाख परीक्षार्थियों ने रजिस्ट्रेशन करवाया था।

यह भी पढ़ेंःUP TET पेपर लीक मामले में परीक्षा नियामक प्राधिकरण के सचिव गिरफ्तार, फिनसर्व कंपनी पर ऐसे हुई कार्रवाई