Home उत्तर प्रदेश यूपी पुलिस का खुलासा, चाचा को फंसाने के लिए तबरेज ने रची...

यूपी पुलिस का खुलासा, चाचा को फंसाने के लिए तबरेज ने रची साजिश, मुनव्वर बोले- मैं मुजरिम का बाप नहीं

0
446
munawwar rana son firing

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की पुलिस ने मशहूर शायर मुनव्वर राना (Munawwar Rana) के बेटे तबरेज पर गोली चलने के मामले में बड़ा सनसनीखेज खुलासा किया है। जिससे मुनव्वर राना की रातों की नींद उड़ गई है। रायबरेली पुलिस का दावा है कि, चाचा को फंसाने के लिए राना के बेटे तबरेज ने खुद पर गोली चलवाई थी। इस पूरी साजिश में शामिल चार लोगों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है और अब पुलिस को तबरेज की तलाश है। जो फिलहाल फरार बताया जा रहा है। हालांकि, पुलिस इस पूरे मामले की जांच में जुट गई है।

चाचा को फंसाने के लिए चलवाई गोली!
तबरेज गोलीकांड मामले पर पुलिस ने बताया कि, अपने ही चाचा को फंसाने के लिए मुनव्वर राना के बेटे तबरेज ने साजिश रची थी और खुद पर गोली चलवाई। तबरेज की तलाश में देर रात लखनऊ में स्थित मुनव्वर राना के घर दबिश दी गई थी। जिसे मुनव्वर राना ने पूरी तरह गलत बताया है औरmunawwar rana son राना ने पुलिस पर परेशान करने जैसे आरोप लगाए हें। बता दें, दो दिन पहले मुनव्वर राना के बेटे की कार पर बाइक सवार बदमाशों ने गोली चलाई थी। जिसमें तबरेज बाल-बाल बच गए थे। घटना के बाद पुलिस ने तबरेज का बयान दर्ज कर जांच शुरू की थी। जिसमें अब चाचा को फंसाने की साजिश का खुलासा हुआ है।

पुलिस पर परिवार के आरोप
तबरेज की तलाश में लखनऊ स्थित मुनव्वर राना के घर पहुंची पुलिस को लेकर उनके परिवार का कहना है कि पुलिस के 100 से अधिक जवान देर रात करीब 1 बजे उनके घर आ पहुंचे और उन्हें बेवजह परेशान किया। मुनव्वर का कहना हैmunawwar rana son firing कि घर आए जवानों में से कुछ पुलिसवाले बिना वर्दी के थे और सभी ने मिलकर उनके घर के साथ-साथ पूरी कॉलोनी को घेर लिया था। मुनव्वर ने पुलिस के इस बर्ताव को लेकर कहा कि उन्हें ऐसा महसूस हुआ जैसे ये कश्मीर है और यहां आतंकी रहते हैं।

‘मैं मुजरिम का बाप नहीं’
पुलिसवालों पर आरोप लगाते हुए मुनव्वर राना का यह कहना है कि उनके साथ बदतमीजी की गई। इतना ही नहीं पुलिस के जवान सीधा बेडरूम में घुस गए जहां घर की महिलाएं भी थीं। मामले पर साफतौर पर राना का कहना है कि उनका बेटा कोई अपराधी नहीं है और न ही वो मुजरिम के बाप हैं। अगर पुलिस को कुछ पूछताछ करनी थी तो उन्हें बात करनी चाहिए थी। इस तरह देर रात घर में घुसकर बदतमीजी नहीं करनी चाहिए थी।

ये भी पढ़ेंः- सरेआम चाचा शिवपाल को सिपाही ने मारा था जोरदार थप्पड़, देखते रह गए थे अखिलेश यादव

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here