हाथरस कांड: बदसलूकी की हदें हुई पार, TMC नेता का आरोप- मेरे ब्लाउज को भी खींचा, और फिर..

38

गुरुवार को हाथरस पीड़िता के परिवार से मिलने के लिए मची होड़ का सिलसिला अभी थमा नहीं है। यह आज यानी की शुक्रवार को भी जारी रहा। कल राहुल गांधी सहित प्रियंका गांधी पीड़िता के परिवार से मिलने के क्रम में पुलिस की धक्कामुक्की सहित अंत में पुलिस हिरासत का शिकार होने के बाद आज फिर से यह सिलसिला जारी रहा। बस.. किरदार वहीं दिखा लेकिन चेहरे नए थे। कल जहां राहुल गांधी पुलिस से उलझने के क्रम में नीचे गिर पड़े थे तो वहीं आज टीएमसी के वरिष्ठ नेता डेरेक ओ ब्राउन नीचे गिर पड़ें। उधर, कल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं पर पुलिस की लाठियों का कहर बरपा तो वहीं आज तो बर्बरता की यह हद यहां पहुंच गई कि महिला पुलिसकर्मी को महिला नेता तक की आबरू का भी ख्याल न रहा।

बता दें कि इस दौरान टीएमसी की महिला नेता ममता ठाकुर यूपी पुलिस की बदसलूकी को बयां करती हुईं कहतीं हैं कि महिला पुलिसकर्मियों ने मेरे ब्लाउज तक खींचे। मेरे साथ बदसुलूकी की। हमारी सांसद प्रतिमा मंडल पर लाठियां भांजी गई। जिसके चलते वे नीचे गिर गई। इतना ही नहीं, हद तो तब हो जाती है, जो फिमेल पुलिस के बावजूद एक मेल पुलिस महिला सांसद को छूता है। यह अपने आपमे एक शर्मनाक कृत्य है।

बताया जा रहा है कि जब टीएमसी के सांसदों को रोका गया तो उनमे से एक सांसद ने कहा कि हम शांति से हाथरस की ओर बढ़ रहे हैं। पीड़ित परिवार से मिलकर उन्हें सांत्वना देने जा रहेे हैं। हम अलग-अलग यात्रा कर रहे हैं। सारे कायदे कानून का पालन कर रहे हैं। हमारे पास कोई हथियार नहीं है।  हम खाली हाथ जा रहे हैं। लेकिन फिर भी.. उन्हें रोका गया।

मीडिया की ‘नो एंट्री’ 
उधर, पीड़िता के गांव के हालात की संवेदनशीलता को देखते हुए किसी भी बाहरी शख्स के आने पर पाबंदी लगा दी गई। यहां तक की गांव के लोगों को भी आईडी कार्ड देखने के बाद ही एंट्री मिल रही है। हालात की संवेदनशीलता को भांपते हुए पूरे इलाके को छावनी में तब्दील कर दिया गया है। ये भी पढ़े :हाथरस कांड: राहुल-प्रियंका समेत कांग्रेस के 200 नेता अब मुश्किल में, दर्ज हुई महामारी एक्ट के तहत FIR