UP Election 2020 JDU-RPI-yogi

उत्तर प्रदेश में साल 2022 में व‍िधानसभा चुनाव (UP Assembly Election 2022) होने हैं। जिसे लेकर सभी राजनीतिक दलों ने जोर-शोर से तैयारियां शुरू कर दी हैं। कौन-सा दल किसके साथ चुनावी मैदान में उतरेगा इस बारे में भी विचार किया जा रहा है और इस बीच सीटों को लेकर प्रदेश में टेंशन नजर आ रही है। एक तरफ AIMIM मुखिया असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) साफ कर चुके हैं कि फिलहाल गठबंधन को लेकर किसी पार्टी से कोई बात नहीं हुई लेकिन वह 100 सीटों पर चुनाव लड़ेंगे। तो बसपा सुप्रीमो मायावती (BSP Mayawati) अकेले ही यूपी चुनाव लड़ेगी। ऐसे में एनडीए (NDA) के सहयोगी दल भी यूपी चुनाव में ज्यादा से ज्यादा सीटों पर चुनाव लड़ने की बात कर रहे हैं। हैरानी की बात यह है कि सहयोगी दल के अलावा नीतीश कुमार और रामदास अठावले की पार्टी भी सीटों का राग अलाप रही है। जो कहीं न कहीं योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) के लिए बड़ी चिंता बन गई है।

200 सीटों पर चुनाव- JDU
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) की पार्टी जेडीयू का कहना है कि वह 200 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। संसदीय दल के अध्यक्ष उपेन्द्र कुशवाहा ने सीटों को लेकर बात करते हुए कहा कि, फिलहाल यूपी में केसी त्यागी जी काम कर रहे हैं और जब चुनाव आएगा तब वह तय करेंगे कि कितनी सीटों पर चुनाव लड़ना है। लेकिन उनकी पार्टी अभी तक 200 सीटों पर चुनाव लड़ने की तैयारी में है। लेकिन आखिरी फैसला आने वाले वक्त में होगा कि कौन-सी सीट से कैसे चुनाव लड़ना है।

अठावले ने की नड्डा से मुलाकात
रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (RPI) के अध्‍यक्ष रामदास अठावले (Ramdas Athawale) ने चुनाव के सिलसिले में पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात की है। यूपी चुनाव में गठबंधन पर अठावले का कहना है कि उन्होंने बीजेपी से 8-10 सीटों की मांग की है और इससे पार्टी को फायदा भी होगा। जो प्रस्ताव RPI द्वारा रखा गया है उस पर वह विचार जरूर करेगी।

जेडीयू और आरपीआई की सीटों को लेकर की गई मांग के बाद कहीं न कहीं प्रदेश सरकार की चिंता बढ़ गई है। जिस तरह पार्टी ने सहयोगी दल निषाद पार्टी और दूसरी सहयोगी अपना दल (एस) को भी मनाया था। उसी तरह बीजेपी को अब JDU और RPI को सीटों के लिए मनाना होगा।

गौरतलब है कि, यूपी विधानसभा चुनाव के लिए अपना दल ने 4 सीटों की मांग की थी। जिसमें मिर्जापुर, जौनपुर, प्रतापगढ़ और बस्ती शामिल थी। लेकिन बीजेपी ने 4 के बजाय सिर्फ 2 सीट देने की बात कही। जबकि निषाद पार्टी के अध्‍यक्ष डॉ संजय निषाद ने बीजेपी से डिप्टी सीएम की मांग रखी और कहा कि उनकी पार्टी बूथ स्तर पर तैयारी कर रही है। इसी के साथ उन्होंने 160 सीटों पर मजबूत होने का दावा किया, इसके अलावा संजय निषाद ने बीजेपी से मांग करते हुए कहा कि, निषादों के आरक्षण संबंधी जो मांग की गई उन्हें पूरा किया जाए। क्योंकि बीजेपी जितना निषादों को खुश रखेगी उतना ही फायदा उसे चुनाव में होगा। फिलहाल अब देखना होगा कि, बीजेपी, नीतीश कुमार और रामदास अठावले की मांग पर कौन-सा कदम उठाती है।

ये भी पढ़ेंः- ओवैसी का ऐलान, मायावती के साथ करेंगे गठबंधन? 100 सीटों पर AIMIM लड़ेगी यूपी विधानसभा चुनाव

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here