Friday, December 3, 2021

सचिवालय मे तैनात अनुसचिव इच्छाराम महिला कर्मचारी से करता था छेड़छाड़, अब ऐसे हुआ गिरफ्तार

Must read

- Advertisement -

लखनऊ। महिला से छेड़छाड़ मामले में सचिवालय मे तैनात अनुसचिव इच्छाराम यादव को हुसैनगंज की पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। इच्छाराम यादव पर महिला संविदा कर्मचारी ने छेड़छाड़ का मुकदमा दर्ज कराया गया था। बुधवार देर शाम को अचानक सोशल नेटवर्किंग साइट पर कार्यालय में की गई छेड़छाड़ का वीडियो वायरल हो गया जिसके बाद पुलिस हरकत मे आई और आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। सचिवालय में तैनात अनुसचिव इच्छाराम अधीनस्थ कम्प्यूटर ऑपरेटर से छेड़छाड़ कर रहा था। वर्ष 2018 से महिला लाचारी में अनुसचिव की हरकतें झेल रही थी। महिला की चुप्पी से इच्छाराम बेलगाम हो गया था। अक्तूबर महीने में काम करने के दौरान ही इच्छाराम ने महिला के साथ भरे आफिस में छेड़छाड़ की थी। सीनियर से डर के कारण सहकर्मी भी विरोध करने की हिम्मत नहीं जुटा सके थे। 29 अक्तूबर को पीड़िता ने हुसैनगंज कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया था।
पीड़िता ने आरोप भी लगाया था कि एफआईआर करने के बाद भी हुसैनगंज इंस्पेक्टर अजय सिंह आरोपी को गिरफ्तार नहीं कर रहे हैं। बुधवार रात महिला से छेड़खानी कर रहे इच्छाराम का वीडियो वॉयरल हुआ था। सोशल मीडिया पर वीडियो आने के बाद पुलिस अधिकारी सन्न रह गए थे। वीडियो वायरल होने के बाद आनन फानन टीम बनाकर अनुसचिव की गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जाने लगी। गुरुवार तड़के पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

- Advertisement -

अकेले में मिलने को बुलाया था अनुसचिव

हुसैनगंज निवासी महिला वर्ष 2013 से बापू भवन में कम्प्यूटर ऑपरेटर के पद पर तैनात है। पीड़िता के मुताबिक वर्ष 2018 से इच्छाराम यादव अनुसचिव के पद पर तैनात हैं। विभाग में आने के बाद से ही अनुसचिव महिला पर गंदी निगाह रखता था। काम करने के दौरान आरोपी कई बार अभद्रता कर चुका था लेकिन लोकलाज के डर से पीड़िता चुप थी। वह इच्छाराम की हरकतों से परेशान थी। महिला के अनुसार इच्छाराम उस पर शादी करने का दबाव बना रहा था। मना करने पर संविदा खत्म कराने की धमकी देता था। अक्त्तूबर महीने में इच्छाराम ने महिला से अकेले में मिलने के लिए कहा था। उसके विरोध करने पर आरोपी ने गाली गलौज की थी। उसे बार-बार धमकाता था। पीड़िता के मुताबिक ऑफिस में काम करने के दौरान भी इच्छाराम सहकर्मियों के सामने ही उससे गलत हरकत करता था। बदमिजाज अनुसचिव के डर से कोई भी उसका विरोध करने की हिम्मत नहीं जुटा पाता था लेकिन एक दिन महिला के साथ हो रही गलत हरकत का वीडियो सहकर्मियों ने तैयार कर लिया था जो बुधवार रात में वॉयरल हुआ।

इंस्पेक्टर पर आरोपी को बचाने का आरोप

पीड़ित महिला के अनुसार 29 अक्टूबर को उसने हुसैनगंज कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया था। इंस्पेक्टर अजय सिंह को पूरी घटना की जानकारी थी लेकिन वह अनुसचिव के प्रभाव में थे। वह इच्छाराम के खिलाफ कार्रवाई नहीं कर रहे थे। इंस्पेक्टर ने आरोपी इच्छाराम यादव के खिलाफ संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज होने के बाद भी कार्रवाई नहीं की थी। एफआईआर होने की बात पता लगने के बाद से ही इच्छाराम महिला को लगातार धमका रहा था। उसने महिला की संविदा नियुक्ति भी समाप्त कराने की बात कही थी। पीड़िता के छेड़छाड़ का वीडिय धवार रात को वॉयरल होने के बाद पुलिस हरकत में आई। डीसीपी मध्य डॉ. ख्याति गर्ग ने तत्काल कार्रवाई के निर्देश दिए थे जिसके बाद अनुसचिव इच्छाराम यादव को गिरफ्तार किया गया।

यह भी पढ़ेंः-सम्पत्ति विवाद से लेकर छेड़छाड़ तक आनन्द गिरी का रहा है नाता, ये थी संत समाज की नाराजगी

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article