gonda

गोंडा । उत्तर प्रदेश के गोंडा में एक बड़ा हादसा हुआ है। एक मकान में बहुत तेज धमाका हुआ है। धमाके से पूरी बिल्डिंग भरभरा कर ढह गयी। बताया जा रहा है कि बिल्डिंग ढहने से करीब एक दर्जन से ज्यादा लोग मलबे में दब गये। धमाका होने के साथ मौके पर अफरा-तफरी मच गयी। मलबे में दबे लोगों को निकालने के लिए तेजी से लोगे पहुंचे। गांववालों ने मुश्किल से मलबे में दबे लोगों को बाहर निकाला। ग्रामीणों की मदद से दबे हुए लोगों को मलबे से निकाल कर नवाबगंज पीएचसी भेजा गया। मलबे से निकाले गये आठ लोगों की मौत हो गयी। इस हादसे में सात लोग बुरी तरह घायल हैं। इन घायलों की स्थिति बहुत ही गंभीर है।

ये भी पढ़ेंः-पत्नी नहीं सास के साथ डेट पर जाना चाहते हैं अक्षय कुमार, खुल गया खिलाड़ी कुमार का बड़ा राज!

गोंडा का धमाका वजीरगंज थाना क्षेत्र के टिकरी के ठठेर पुरवा का है। एक मकान में अचानक धमाका हुआ, जिससे दो मंजिला इमारत जमींदोज हो गयी। धमाका इतना तेज था कि मकान भरभरा कर गिर गया। पुलिस को आशंका है कि हादसा सिलेंडर ब्लास्ट होने के चलते हुआ है। हादसे में 2 पुरुष, दो महिला और 4 बच्चों की मौत की हो गयी है। पुलिस ने जानकारी देते हुए बताया कि बचाव कार्य जारी है। मलबे में और भी लोगों के दबे होने की आशंका जताई जा रही है। मलबे में और शव दबे होने की की स्थिति में मरने वालों की संख्या बढ़ सकती है।

अभी भी मौके से मलबा हटाया जा रहा है। बताया जा रहा है कि जिस मकान में यह हादसा हुआ है, उसके मालिक के पास पटाखा बनाने का लाइसेंस भी था। अब इस धमाके पीछे कारणों की तलाश शरू हो गयी है। ऐसे में पुलिस इस मामले की जांच भी करेगी कि इस हादसे का मुख्य कारण क्या है? हालांकि मौजूदा समय में इस हादसे की वजह गैस सिलेंडर का ब्लास्ट होना बताया जा रहा है।

ये भी पढ़ेंः-यूपीः गोंडा में सनसनी, तीन दलित बहनों पर सोते समय तेजाब से हमला

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here