agra docter

आगरा। चंबल के बदन सिंह तोमर गैंग ने आगरा के चिकित्सक डॉ. उमाकांत गुप्ता का अपहरण कर लिया। बदमाशों ने डाॅक्टर को हनी ट्रैप में फंसाकर अपहरण किया। गैंग की एक महिला सदस्य संध्या ने एक महीने पहले उनके नर्सिंग होम में ज्वाइन किया था। मंगलवार की शाम उसने डॉ.गुप्ता को मिलने के लिए बुलाया और फिर लांग ड्राइव के बहाने उनका अपहरण करा दिया। पुलिस ने सक्रियता दिखाते हुए बुधवार देर रात बीहड़ से डॉ.गुप्ता को बदमाशों से मुक्त करा लिया है। संध्या और अपहरण में शामिल उसका एक साथ भी पकड़ा गया है।
पुलिस को पूछताछ में ज्ञात हुआ है कि संध्या एक महीने से डॉक्टर से व्हाट्स पर लगातार चैटिंग कर रही थी। संध्या ने ही मंगलवार को डॉक्टर को मिलने के लिए बुलाया था।  डॉक्टर उमाकांत गुप्ता उससे मिलने आए तो वह कार में बैठ गई। संध्या ने लांग ड्राइव के बहाने उसने डॉक्टर से अपने इशारे पर कार चलवाई। मधुनगर के पास बदमाशों ने कार को रोक लिया। बदमाशों को देख संध्या कार से उतर गई। बदमाश डॉक्टर गुप्ता को बीहड़ में ले गये।

पुलिस ने बताया कि इस बीच अपहरण में शामिल एक बदमाश मंगलवार की रात धौलपुर में चेकिंग के दौरान पकड़ गया था। पकड़े गये बदमाश से ही पूछताछ में अपहराण की पूरी जानकारी मिली थी। इसके बाद पुलिस की टीम धौलपुर में पहुंच गई। पुलिस ने संध्या और अपहरण में शामिल एक बदमाश को पकड़ है। बताया जा रहा है कि संध्या मूलतः महाराष्ट्र की निवासी है। बीहड़ में सक्रिय बदन सिंह तोमर के संपर्क में थी। बदन सिंह तोमर गैंग का संपर्क दस्यु केशव गुर्जर से है।

पांच करोड़ की मांगते फिरौती
संध्या ने पुलिस को बताया कि बदमाशों ने पांच करोड़ की फिरौती मांगने की योजना बनाया था। गिरोह को जानकारी थी कि कम से कम एक करोड़ रुपये मिल सकते हैं। यही मानकर गिरोह ने डॉक्टर गुप्ता को चिन्हित किया था।

यह भी पढ़ेंः-कांवड़ यात्रा : पड़ोसी राज्यों से आने वाले शिवभक्तों को लानी होगी आरटीपीसीआर रिपोर्ट, ऐसी है तैयारी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here