पूर्वांचल की इन पांच जिलों की सीटों से निकलता है सत्ता का रास्ता, जानिये वजह

0
424
varanasi
  • मायावती, मुलायम सिंह यादव और बीजेपी ने किया है कमाल

वाराणसी। विधानसभा चुनाव से पहले कितना भी चुनावी समीकरण की समीक्षा कर ली जाये लेकिन प्रत्येक क्षेत्र का अपना मिजाज होता है। जी हां, पूर्वांचल का मिजाज है कि जो जीता वही राजधानी में पांच साल सत्ता सम्भालेगा। 10 मार्च को आने वाले असली नतीजे ही तय करेंगी की उत्तर प्रदेश में किसकी सरकार होगी। क्या अखिलेश वापसी करेंगे या योगी सत्ता की गद्दी पर बरकरार रखेंगे का परिणाम चुनाव बाद ही आयेगा। चुनाव से पहले कुछ दिलचस्प आंकड़े लेकर आए हैं जो निर्णायक हो जाते हैं। पीएम मोदी के लोकसभा क्षेत्र वाराणसी और उससे सटे 5 जिलों को हमेशा सत्ता की तस्वीर जारी करते हैं।

kashi vishwanath temple varanasi

जिसने जीतीं आधी सीटें उसकी बनी सरकार

वाराणसी व इससे सटे पांच जिले जौनपुर, गाजीपुर, चंदौली, मिर्जापुर और भदोही हैं। ये ऐसे जिले हैं जिनकी जिनके विधानसभा क्षेत्र यूपी चुनाव में खासा असर डाल सकते हैं। इन पांच जिलों में विधानसभा की कुल 36 सीटें हैं। पूर्वांचल का यह इलाका भारतीय जनता पार्टी के समर्थकों का माना जाता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वाराणसी से दो बार के सांसद हैं।

kashi viswnat coridor

मायावती ने जीती थीं 20 सीटें

इनमें जिलों की आधी सीटें भी जिस दल ने जीती हो, उसकी सरकार बन जाती है। 2007 में जब मयावती के नेतृत्व में बहुजन समाज पार्टी की सरकार बनी तो उसने इन 36 में से 20 सीटें पर कब्जा किया था।

kashi viswnat coridor

मुलायम ने 21 सीटों पर जमाया था कब्जा

2007 के बाद जब 5 साल बाद 2012 के विधानसभा चुनाव हुए तो मुलायम सिंह यादव के नेतृत्व में समाजवादी पार्टी को 21 सीटें मिलीं थीं। सपा ने पूर्ण बहुमत की सरकार बनाई थी। मुलायम सिंह यादव ने अपने बेटे अखिलेश यादव को मुख्यमंत्री बनाया था।

modi-coridor.

 

भाजपा ने मारी थी 21 सीटों पर बाजी

2017 के यूपी विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी बिना किसी सीएम चेहरे के चुनाव लड़ी थी। पांच जिलों की 36 में से 21 सीटें जीतने में कामयाब रही थी। पूर्ण बहुमत पाने वाली भाजपा ने बाद में योगी आदित्यनाथ को यूपी का मुख्यमंत्री बनाया। यूपी के पिछले तीन विधानसभा चुनावों को देखें तो आंकड़ें काफी कुछ कहते हैं। इस लिहाज से 2022 के विधानसभा चुनावों में भी इन सीटों पर विशेष नजर है।

ये हैं वो 36 सीटें, जो तय कर सकती हैं अगली यूपी सरकार

जौनपुर जिले की विधानसभा सीटें
बदलापुर, शाहगंज, जौनपुर, मल्हानी, मुंगड़ा बादशाहपुर, मछलीशहर (एससी), मरियाहू, जाफराबाद; केराकत (एससी)

गाजीपुर जिले की विधानसभा सीटें
जखानियां, सैदपुर, गाजीपुर सदर, जंगीपुर, जहूराबाद, मोहम्मदाबाद, जमानिया

चंदौली जिले की विधानसभा सीटें
मुगलसराय, सकलडीहा, सैयदराजा, चकिया

वाराणसी जिले की विधानसभा सीटें                                                                                पिंड्रा, अजगरा, शिवपुर, रोहनिया, वाराणसी उत्तर, वाराणसी दक्षिण, वाराणसी कैंट, सेवापुरी

भदोही जिले की विधानसभा सीटें                                                                                    भदोही, ज्ञानपुर, औराई

मिर्जापुर जिले की विधानसभा सीटें                                                                                छानबे, मिर्जापुर, मझवां, चुनार, मरिहन

ये भी पढ़ेंः-पूर्वांचल ही नहीं पूरे UP में नाराज हैं ब्राह्मण, विनय तिवारी ने कही ये बात