Wednesday, December 8, 2021

दुष्कर्मी पिता को मिली फांसी की सजा, गंभीरतम मामले में नाबालिग बेटी को न्याय, कोर्ट ने कही ये बात

Must read

- Advertisement -

बहराइच। उत्तर प्रदेश के बहराइच में एक बेटी को बड़ा न्याय मिला है। दुष्कर्मी पिता को पॉक्सो कोर्ट ने मृत्युदंड की सजा सुनाई है। अभियुक्त पिता अपनी नाबालिग बेटी से लगातार दो वर्षों से दुष्कर्म कर रहा था। दुष्कर्मी पिता के खिलाफ मां की तहरीर पर तीन महीने पहले पॉक्सो एक्ट में मुकदमा दर्ज हुआ था। पॉक्सो एक्ट की कोर्ट ने तीन महीने में सुनवाई पूरी करते हुए अभियुक्त, दुष्कर्मी पिता को फांसी की सजा सुनाई है। दुष्कर्म का यह मामला सुजौली थाना क्षेत्र का है। जहां मां की तहरीर पर तीन महीने पहले कलयुगी पिता पर दुष्कर्म के मामले में पॉक्सो एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज हुई थी। अपनी ही बेटी से दुष्कर्म के इस गंभीरतम मामले में बहराइच की जिला सत्र न्यायालय की पॉक्सो कोर्ट ने अभियुक्त पिता को मृत्युदंड की सजा सुनाई।

- Advertisement -

girl

शासकीय अधिवक्ता संत प्रताप सिंह ने बताया कि बहराइच की जिला सत्र न्यायालय की पॉक्सो कोर्ट फर्स्ट के जज नितिन कुमार पांडेय ने सुजौली थाना क्षेत्र के पॉक्सो एक्ट के तहत दर्ज मामले में दोषी पिता को फांसी की सजा सुनाई है। दुष्कर्म के मामले में अभियुक्त के तहत 376डी, 323, 506 और पॉक्सो एक्ट के 5बी के तहत अभियोग पंजीकृत किया गया था। इस मामले में 22 अगस्त 2021 को एफआईआर दर्ज हुई थी। एफआईआर के बाद मामले की जांच हुई और चार्जशीट दाखिल की गयी।

कोर्ट ने अपराध को गंभीरतम माना

शासकीय अधिवक्ता ने बताया कि दुष्कर्मी पिता द्वारा बेटी का रेप के मामले में पीड़िता का भाई और दो पड़ोसी गवाह थे। पूरे मामले की सुनवाई करते हुए पॉक्सो कोर्ट ने आरोपी को सभी धाराओं में दोषी पाया और मामले को रेयर ऑफ द रेयरेस्ट मानते हुए दोषी को फांसी की सजा से दण्डित किया है। कोर्ट ने कहा कि दुष्कर्मी पिता का कृत्य अक्षम्य था। एक पिता द्वारा अपनी नाबालिग बेटी से दो साल तक रेप एक गंभीरतम अपराध की श्रेणी में है।

यह भी पढ़ेंःहैवानों ने नाबालिग को बनाया शिकार, अपहरण कर 4 युवकों ने किया सामूहिक दुष्कर्म

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article