गर्भवती पत्नी को पति ने पहले फांसी पर लटकाकर मारा, फिर जलाकर नहर में फेंका, बेटी ने बताई खौफनाक सच्चाई

449
Garbhawati mahila

कहा जाता है कि दुनिया में कुछ इंसान के भेष में हैवान छिपे हुए हैं, ये बात इस खबर पर बिल्कुल सही और सटीक बैठती है. एक छोटी सी बात पर इंसान किस हद तक जा सकता है ये वाकई सोच से परे है. लोग मानवता के नाम पर ऐसे कलंकित वारदात को अंजाम देने में लगे हैं, जिस पर किसी को यकीन न हो. लेकिन अब जिस तरह से लोग अपने आपे पर काबू नहीं कर पा रहे हैं वो वाकई बहुत बड़ा चिंता का विषय है.

दरअलस एक पति ने अपनी गर्भवती पत्नी को सिर्फ इस बात के लिए मौत के घाट उतार दिया, क्योंकि उसने पुलिस को बुलाया था. इसके उसने पत्नी के शव को जलाया और फिर उसकी चिता की राख को उठाकर नहर में फेंक दिया. इस घटना का खुलासा तब हुआ जब सीओ सलोन विनीत सिंह इसकी पड़ताल करने के लिए मृतका की 7 साल की बेटी से पूछताछ की.

7 साल की बच्ची ने उस दौरान सीओ साहब को वारदात के दौरान घटी पूरी घटना के बारे में विस्तार से बताया. बच्ची के बयान के मुताबिक पुलिस उस स्थान पर पहुंची जहां पर महिला के शव को पति ने जलाया था. इस दौरान जलाने वाली जगह से हड्डियों को पुलिस ने बरामद किया. मृतका की बहन के दिए बयान के मुताबिक पुलिस ने मृतका के पति के साथ-साथ ससुर और दो देवर के खिलाफ मामला दर्ज किया और 1 देवर समेत पति को गिरफ्तार कर लिया है.

बता दें कि 27 साल की उर्मिला का विवाह 10 साल पहले रविंद्र कुमार से हुई थी, जिनसे दो बेटियां राधिका और सारिका हैं. दरअसल 10 जनवरी को उर्मिला की बहन विद्या देवी ने पुलिस स्टेशन में उसके लापता होने की शिकायत दर्ज करवाई थी. इसके बाद पुलिस लगातार उर्मिला की जांच पड़ताल में लगी थी. इस दौरान जब पुलिस ने उर्मिला की बेटी सारिका से पूछताछ की तो उसने घटना के दौरान हुई पूरी आपबीती पुलिस को बता दिया.

सारिका ने बताया कि कैसे डेली पिता उसकी मां को पीटा करता था. जिससे तंग आने के बाद एक मां ने पुलि को घर बुलाया था. मां की इसी बात से पिता नाराज चल रहे थे, इसी वजह से उन्होंने पिता रविंद्र कुमार ने बाबा पूर्व प्रधान करमचंद और चाचा संजीव कुमार व बृजेश कुमार ने मिलकर पहले मां को फांसी पर लटकाया और जब मौत हुई तो से घर के पास जला दिया और राख को नहर में फेंक दिया. खुलासे में ये भी पता चला कि मृतका के पेट में सात महीने का बच्चा भी था. फिलहाल इस मामले में सीओ का कहना है कि अपराधियों ने ये कबूल कर लिया है कि जिस औरत का शव दलाया है वो उर्मिला का ही है, लेकिन अभी इसका डीएनए टेस्ट भी कराया जाएगा.

ये भी पढ़ें:- मां-चाचा को आपत्तिजनक स्थिति में देखना बेटे को पड़ा भारी, दोनों ने मिलकर मासूम को उतारा मौत के घाट