गोरखनाथ मंदिर में PAC जवानों पर हमला करने वाले शख्स को किया गया अरेस्ट, पढ़ा-लिखा है आरोपी

शाम 7 बजे के करीब गोरखनाथ मंदिर में धार्मिक नारे लगाते हुए एक आदमी मंदिर परिसर में घुसा। उन्होंने पीएसी जवानों पर बीती शाम धारदार हथियारों से हमला कर दिया गया।

0
879

सीएम योगी के गृह जनपद गोरखपुर से एक बड़ा केस सामने आया है, जहां पर गोरखनाथ मंदिर की सुरक्षा में तैनात पीएसी जवानों पर बीती शाम धारदार हथियारों से हमला कर दिया गया। जिसमें 2 जवान घायल हो गए हैं फिलहाल पुलिस ने आरोपी को अरेस्ट कर लिया है। ज्ञात हो कि शाम 7:00 बजे के करीब धार्मिक नारे लगाते हुए एक आदमी मंदिर परिसर में घुसा। गोरखनाथ मंदिर परिसर में ही गोरक्ष पीठ के महंत यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ का आवास भी है।

कौन पाया गया आरोपी

इस पूरे मामले में मोहम्मद मुर्तजा नाम का शख्स आरोपी बताया गया रहा है। वो गोरखपुर के सिविल लाइंस का निवासी है। हमलावर केमिकल इंजीनियर और उसने आईआईटी मुंबई से पढ़ाई की हुई है। वह अपने परिवार के साथ में रहता है। अक्टूबर 2020 में गोरखपुर में आकर वो रहने लगा। पुलिस ने उसके पास से एक लैपटॉप और पेन कार्ड भी बरामद किया है।

इस तरह की है गोरखनाथ मंदिर की सुरक्षा

इस घटना के बाद गोरखनाथ मंदिर की सुरक्षा को लेकर बहुत सारे सवाल उठने लगे हैं। फिलहाल गोरखनाथ मंदिर की सुरक्षा व्यवस्था में बहुत ही अच्छी है। यहां बम निरोधक दस्ता स्थाई तौर पर तैनात है। इसके अतिरिक्त सुरक्षा में एक प्लाटून पीएसी बल भी वहां तैनात रहता है, तो वहीं 875 पुलिस सुरक्षा के लोग भी यहां तैनात रहते हैं।

उनके मंदिर के गेट पर स्कैनर लगाया गया है। स्कैन होने के बाद यहां पर प्रवेश प्राप्त होता है।सुरक्षा की मॉनिटरिंग के लिए कंट्रोल रूम भी बनाया गया है। यही नहीं हर समय यहां नौ वाच टावर से निगरानी होती रहती है। इनकी संख्या बढ़ाकर 14 की जा चुकी है, तो वहीं टावर पर तैनात पुलिसकर्मियों को भी आधुनिक असलहे दिए गए हैं। इसी पर काली मंदिर परिसर व उसके आसपास और सीसीटीवी कैमरे 24 घंटे निगरानी में है।

ज्ञात हो कि 2010 में गोरखनाथ मंदिर में निश्चित भीम सरोवर ताल के पास विस्फोट हुआ था। आज के बाद यह पता चला था कि वह दिवाली वाला बम था। ज्ञात हो कि कई बार निशाने पर भी यह मंदिर रहा है। 1993 में मेनका टॉकीज में बम ब्लास्ट हुआ था,जिसके बाद 2007 में शहर के सबसे व्यस्त बाजार गोलघर में ब्लास्ट हो चुका है। इसका कनेक्शन पाकिस्तान से बताया गया था।

Read More-अल्ला-हू-अकबर का नारा लगाते हुए गोरखनाथ मंदिर में घुसने की कोशिश, सुरक्षाकर्मियों पर किया हमला …