Categories
उत्तर प्रदेश कानपुर लखनऊ

अखिलेश के कन्नौज पहुंचने से पहले पहुंची IT की टीम, छापेमारी पर भड़के सपा मुखिया

  • कन्नौज में इत्र कारोबारी पुष्पराज जैन उर्फ पंपी के साथ थी प्रेसवार्ता

लखनऊ /कन्नौज/कानपुर। विधानसभा चुनाव से पहले सत्ताधारी दल भारतीय जनता पार्टी और विपक्ष समाजवादी पार्टी के बीच शह और मात का खेल तेज हो गया है। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के कन्नौज पहुंचने से पहले वहां आयकर विभाग की टीम पहुंच गई है। अखिलेश यादव जिस सपा विधान परिषद सदस्य और इत्र कारोबारी पुष्पराज जैन उर्फ पंपी के साथ प्रेसवार्ता करने वाले हैं उसके घर पर ही सुबह 7 बजे आयकर विभाग के अफसरों की टीम पहुंच गई। आयकर विभाग की टीम अखिलेश यादव से पहले कार्रवाई करने कन्नौज पहुंचने पर समाजवादी पार्टी तल्ख हो गयी। आयकर विभाग की इस कार्रवाई से सपा भड़क गई है। समाजवादी पार्टी ने कहा कि पिछली बार की अपार विफलता के बाद इस बार बीजेपी के परम सहयोगी आयकर ने सपा एमएलसी पुष्प राज जैन और कन्नौज के अन्य इत्र व्यापारियों के यहां पर आखिर छापे मार ही दिए है। डरी भाजपा द्वारा केंद्रीय एजेंसियों का खुलेआम दुरुपयोग, यूपी चुनावों में आम है।

सपा की रणनीति पर पर इनकम टैक्स की छापेमारी

ज्ञात हो कि डीजीजीआई अहमदाबाद ने कन्नौज के इत्र कारोबारी पीयूष जैन के कानपुर ठिकाने पर छापेमारी की थी। इस दौरान 197 करोड़ रुपये कैश और 23 किलो सोना बरामद किया था। इस छापेमारी को भारतीय जनता पार्टी ने पीयूष जैन का कनेक्शन सपा से जोड़ा था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह समेत सभी नेता अपनी रैली में पीयूष जैन के बहाने अखिलेश पर निशाना साध रहे हैं। भारतीय जनता पार्टी का यह निशाना समाजवादी पार्टी पर नहीं लगा। अपने ऊपर लग रहे आरोपों का जवाब देने के लिए सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव आज कन्नौज जाने वाले थे। कन्नौज में वह अपनी पार्टी के एमएलसी पुष्पराज जैन उर्फ पंपी के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस करने वाले हैं। अखिलेश अब फ्रंटफुट पर खेलने की तैयारी कर रहे थे। अखिलेश यादव के पहुंचने से पहले आयकर विभाग ने सुबह पंपी जैन के ठिकानों पर छापेमारी कर दी।

पीयूष और पुष्पराज में है ये समानता

पीयूष जैन और सपा एमएलसी पुष्पराज जैन उर्फ पंपी में तीन समानताएं हैं। पीयूष जैन और सपा एमएलसी पुष्पराज जैन दोनों जैन हैं। दोनों कन्नौज के एक मोहल्ले में रहते हैं और इत्र कारोबारी हैं। हालांकि स्थानीय लोग बताते हैं कि पीयूष जैन किसी पार्टी से नहीं जुड़ा है।

सपा से पुष्पराज जैन का पुराना नाता

कन्नौज के इत्र कारोबारी पुष्पराज जैन की गिनती अखिलेश यादव के करीबियों में की जाती है। अखिलेश यादव जब कन्नौज से सांसद बने थे। उस दौरान पुष्पराज जैन उनके संपर्क में आए थे। इसके बाद 2016 फर्रुखाबाद-इटावा सीट से सपा ने पंपी जैन को उतार दिया और वह जीत गए। पुष्पराज जैन की गिनती बड़े इत्र कारोबियों में है।

यह भी पढ़ेंः-सपा के एमएलसी पुष्पराज जैन के ठिकानों पर छापेमारी, लाॅन्च किया था समाजवादी इत्र