Lucknow chauki

लखनऊ। चोरी के आरोप में हिरासत में लिए गए व्यक्ति से पूछताछ पुलिस को महंगी पड़ गई। आरोपी के परिजनों और मोहल्ले के लोगों ने पुलिस चौकी  पर हमला कर दारोगा की पिटाई कर दी। दारोगा ने अपने को बचाने के लिए स्वयं को चौकी में बंद कर लिया था। लखनऊ के थाना महानगर के पेपर मिल कॉलोनी की मेट्रो चैकी पर तैनात चैकी इंचार्ज सुधाकर पांडेय ने एक रिटायर्ड अधिकारी के घर कुछ दिन पहले चोरी के मामले में उनके ड्राइवर को पूछताछ के लिए थाने बुलाया था। आरोप है कि पूछताछ के दौरान चौकी  इंचार्ज की पिटाई से ड्राइवर बेहोश हो गया। ड्राइवर की पिटाई से परिजन बहुत नाराज थे।

दारोगा पर पिटाई का आरोप लगाकर परिजनों ने हंगामा शुरू कर दिया। जब बवाल हो रहा था, तब दारोगा सुधाकर पांडेय अपने मोबाइल से रिकार्डिंग करने लगे। इस पर सभी लोग चैकी के अंदर घुस गए और दारोगा का मोबाइल छीन कर उनकी पिटाई कर दिये। इसके बाद दारोगा सुधाकर पांडेय ने किसी तरह चैकी का गेट बंद कर लिया। नाराज परिजनों सहित मोहल्ले वालों ने चैकी पर ईट पत्थर से तोड़फोड़ भी की है।

हंगामा बढ़ता देख दारोगा ने पीएसी बुला ली। मौके पर पहुंची पीएसी ने लोगों को शांत करवाया। लोगों के षांत होने पर चैकी इंचार्ज को चैकी से निकाला जा सका। डीसीपी देवेश पांडे के मुताबिक चैकी इंचार्ज पर हमला किया गया। हाथों में चप्पल लेकर भीड़ उग्र हो गई। जिसने भी वर्दी पहने पुलिसकर्मी के साथ मारपीट और अभद्रता करने की कोशिश की, उसके खिलाफ भी कार्रवाई की जायेगी।

यह भी पढ़ेंः-लखनऊ के आतंकियों के आगरा कनेक्शन पर स्टेशन हाई अलर्ट, इन ट्रेनों में ऐसी थी योजना

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here