हिंदू-मुस्लिम एकता की मिसाल, अयोध्या फैसले पर गले मिलकर बोले, चाहते हैं सिर्फ शांति, देखें, सुंदर तस्वीरें

कहते हैं दोस्ती और प्यार कभी मजहब नहीं देखता और इसी का उदाहरण हमें अयोध्या में उस वक्त देखने को मिला जब सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुनाया। जहां लोगों के मन में कहीं ना कहीं डर था कि, फैसले के बाद कुछ गलत हो सकता है तो वहीं हिंदू और मुस्लिम भाइयों ने गले लगकर फैसले के प्रति खुशी जाहिर की।साथ ही लोगों से शांति रखने की अपील की। भले ही फैसले वाले दिन की सुबह हर रोज की तरह थी, लोगों की नजर सिर्फ टीवी पर टिकी थी। जब फैसला सुनाया गया तो बागपत के हाफिज मोहम्मद हामिद कहते हैं कि देश की सबसे बड़ी पंचायत ने अपना फैसला सुनाया है, इसे सम्मान देना चाहिए।hindu muslimवहीं फैसले के बाद बाबा जानकी दास मंदिर के पुजारी पंडित राजकुमार शास्त्री भी केतीपुरा की एक मीनार मस्जिद में पहुंचे। जहां शहर काजी ने उनका स्वागत किया। जिसे देखकर एकता की मिसाल जगी। दोनों ने एक-दूसरे से कहा कि, कोर्ट का फैसला मान्य है अब सबकी जिम्मेदारी है कि, अपने इलाके का माहौल खराब होने से बचाएं। शांति बनाएं और लोगों के साथ प्रेम के साथ रहें।वैसे इस फैसले पर पुजारी राजकुमार शास्त्री ने कहा कि जिले का माहौल काफी खुशहाल है। गांव से लेकर शहर तक लोग प्रेम-भाव के साथ एक-दूसरे संग रहकर मिसाल कायम करें। जिससे हमारी आने वाली पीढ़ियां भी प्यार से रहना सीखे। ये भी पढ़ेंः- मुस्लिम महिलाओं ने तोड़ी मजहब की दीवार, हिंदू गुरू की उतारी आरती, फिर लिया आर्शीवाद

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

1,092,598FansLike
5,000FollowersFollow
5,023SubscribersSubscribe

Latest Articles