Barailly police

लखनऊ /बरेली। उत्तर प्रदेश के बरेली में चोरी के संदेह में पांच बच्चों को बंधक बनाकर क्रूर तालिबानी सजा दी गई है। बच्चों को रस्सी से बांधकर चाबुक से पिटाई की गई। डेयरी संचालक ने दबंगो के साथ मिलकर बच्चों को करंट भी लगाया। बरेली के बारादरी थाना क्षेत्र के गंगापुर इलाके में अवनेश कुमार यादव डेयरी का व्यवसाय करते हैं। बीते दिनों उनका 30 हजार रुपये का मोबाइल चोरी हो गया। मोबाइल चोरी होने के बाद डेयरी संचालक ने पड़ोस में रहने वाले बच्चों को अगवा करवा लिया। पांचों बच्चों को उसने बेरहमी से पीटवाया। बच्चो का आरोप है कि रस्सी से बांधकर उनको चाबुक से पीटा और करंट लगाया गया। इस बीच बच्चों के परिवार वालों को मामले की जानकारी हुई तो परिजनों ने डेयरी पर धावा बोल दिया।

बच्चों को पीटे जाने की सूचना पुलिस को भी दी। मौके पर पहुची पुलिस ने डेयरी संचालक के चंगुल से पांचों बच्चों को मुक्त कराया। घायल बच्चों का जिला अस्पताल में मेडिकल कराया गया है। नाबालिग ने पुलिस को पूरे घटनाक्रम के बारे में बताते हुए कहा कि रात में अवधेश उसे ले गया था। ले जाते ही हम सभी की पिटाई शुरू कर दी। मोबाइल चोरी करने का आरोप लगाया। बच्चों ने बताया कि चोरी से इनकार किया तो बंधक बना लिया। इसके बाद चाबुक से पिटाई की और करंट लगाया। पैरों से कूटा. बच्चों ने पीने का पानी भी मांगा लेकिन पानी भी नहीं दिया।

बच्चों की पिटाई मामले में बारादरी थाने में अवनेश यादव, उनकी पत्नी शबाना के साथ उनके चाचा, बहनोई, संजय खंडेलवाल व मुकेश कालिया सहित 6 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। एसपी सिटी रविन्द्र कुमार ने बताया कि आरोपियो की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की टीमें लगा दी गई है।

यह भी पढ़ेंः-बलिया जेल में हंगामे के बाद दो गुटों में पथराव, कई थानों की फोर्स के साथ बुलानी पड़ी पीएससी, डीएम ने कही ये बात

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here