Friday, December 3, 2021

एसएचओ की कोतवाली से ऐसे हुई विदाई, दूल्हे की तरह न्यौछावार होते रहे 100 और 500 की नोट

Must read

- Advertisement -

संभल। उत्तर प्रदेश पुलिस की छवि बहुत से मामलों में बनती-बिगड़ती रहती है। कुछ पुलिस कर्मी के ऐसे सराहनीय काम भी होते हैं जो लोगों के दिलों पर अमिट छाप छोड़ देते हैं। ऐसा ही एक सराहनीय मामला संभल जिले से आया है। संभल जिले में एक एसएचओ ने भी अपने कार्यकाल के दौरान बेहतरीन फर्ज निभाया। वह अपने दायित्वों के निर्वहन से लोगों के दिलों में बना लिये हैं। उनके तबादले की सूचना पर क्षेत्र के लोगों को परेशान कर दिया। हालांकि सरकारी आदेश में कोई कुछ नहीं कर सकता लेकिन यहां के लोगों ने बेहद ही शानदार अंदाज में उनकी विदाई की। इस विदाई और एसएचओ के काम की अब चर्चा हो रही है। संभल के असमोली थाने में तैनात एसएचओ रणवीर सिंह के लिए यह पल बेहद शानदार रहा। उत्तर प्रदेश पुलिस में लगातार स्थानांतरण होते रहते हैं, पर किसी को कोई फर्क नहीं पड़ता है। जब एसएचओ रणवीर सिंह का तबादला हुआ तो लोग परेशान हो गये।

- Advertisement -

sambhal sho 1

ज्ञात हो कि कुछ दिन पहले एसएचओ का ट्रांसफर अमरोहा जिले में हो गया, जिसके बाद लोगों ने उनकी फेयरवेल पार्टी दी थी। लोगों ने अपने चहेते थाना प्रभारी की विदाई पार्टी को यादगार बनाने के लिए खास इंतजाम किये जिसकी अब भी चर्चा है। जिले में 6 साल चार महीने तक अलग-अलग थानों में तैनात रहे रणवीर सिंह को सरकारी फरमान के बाद जाना तो था ही पर लोगों ने उनकी विदाई बेहद ही शानदार तरीके से की है। एसएचओ की विदाई के लिए बड़ी संख्या में कोतवाली पहुंचे लोगों ने एसएचओ को माला पहनाई। इसके बाद ढोल-नगाड़ों के साथ थाने में जश्न का माहौल देखा गया। एसएचओ को एक दूल्हे की तरह पगड़ी पहनाई गई। वर्दी के साथ उन्हें बग्गी पर बैठाया गया। ये बग्गी पूरे क्षेत्र में घूमी।

जिस तरह बारात में लोग नाचते झूमते चलते हैं, उसी तरह इस विदाई यात्रा का माहौल भी दिखाई दिया। जिस तरह बारात में दूल्हे के सिर पर नोटों को रख न्यौछावर की जाती है, उसी तरह एसएचओ की न्यौछावर करने वालों में होड़ मची हुई थी। बग्गी पर चढ़कर लोग 100 और 500 के नोटों से एसएचओ की न्यौछावर कर रहे थे। बताया जा रहा है कि छह साल 4 महीने के दौरान एसएचओ ने जिले के विभिन्न थानों में रहते हुए कई गुडवर्क किये है। 52 से अधिक मुठभेड़ों में शामिल रहे एसएचओ ने कई बड़े अपराधियों को सलाखों के पीछे पहुंचाया। जिससे समाज के लोगों को राहत मिली। इस विदाई समारोह के दौरान स्वागत करने वाले कोरोना नियमों की धज्जियां उड़ाते नजर आये। न लोगों के मुंह पर मास्क दिखाई दे रहा था और नाहीं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन ही किया जा रहा था।

यह भी पढ़ेंः-दूल्हे ने पहनाया मंगलसूत्र तो हाथ जोड़ फूट-फूटकर रोई दुल्हन, देखें वीडियो

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article