विद्यार्थी का प्रधानाचार्य के नाम पत्र, ‘मैं मर चुका हूं छुट्टी दे दी जाए’

0
1329

मामले तो बहुत आते हैं और इसका सिलसिला भी बदस्तूर जारी ही रहेगा। लेकिन, इन सबसे इतर कुछ मामले ऐसे होते हैं, जो काफी हैरान करने वाले होते हैं। ऐसा ही एक मामला यूपी के कानपुर से आया है। जहां पर स्कूल में पढ़ने वाले एक छात्र ने अपने प्रधानाचार्य को ख़त लिखकर,अनुरोध किया कि उसे आधे दिन की छुट्टी प्रदान की जाए, क्योंकि वह मर चुका है। ये भी पढ़े :उत्तर प्रदेश को बधाई..देश का छठा सर्वश्रेष्ठ संस्थान बना IIT कानपुर

यहां हैरान करने वाली बात ये है कि उसे छुट्टी मिल भी गई है। अगर आपको यकीन न हो तो आप उपर लगे तस्वीर में प्रधानाचार्य द्वारा किए हस्ताक्षर भी देख सकते हैं, जो इस बात की ओर इशारा करते हैं कि खुद स्कूल प्रधानाचार्य ने इस छात्र को छुट्टी की मंंजूरी दी है।

प्राथी ने अपने पत्र में लिखा है कि ‘महोदय सविनय निवेदन है कि (प्राथी का नाम) 20 अगस्त को सुबह 10 बेज मेरा देहांत हो गया है। महोदय से निवेदन है कि प्राथी को हाफ टाइम का अवकाश प्रदान करें। आपकी महान कृपा होगी। वहीं, प्रधानाचार्य ने अपनी लापरवाही का नमूना पेश करते हुए प्राथी को छुट्टी की मंजूरी दे दी और वो घर चला गया।

बहरहाल, अभी ये पूरा ही मामला काफी चर्चाओं में बना हुआ है। पूरे स्कूल सहित दोस्तों के बीच में ये पूरा मामला काफी चर्चा में है। सभी के बीच अगर चर्चा है तो इस बात की कि आखिर एक स्कूल का प्रधानाचार्य से ये लापरवाही कैसे हो सकती है। ये भी पढ़े :कानपुर: पूर्वा एक्सप्रेस के 12 डिब्बे पटरी से उतरे, हादसे में 20 यात्री घायल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here