shfukur rahman

संभल /लखनऊ। अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे के साथ उत्तर प्रदेश में सियासती बयान आने शुरू हो गये हैं। मंगलवार को समाजवादी पार्टी के सांसद डॉ. शफीकुर्रहमान बर्क ने तालिबान का समर्थन किया है। सांसद ने कहा कि तालिबान ने अपने देश को आजाद कराया है। ऐसा बयान देने पर अब उनके खिलाफ देशद्रोह का केस दर्ज हो गया है। सांसद की अब निंदा हो रही है। शफीकुर्रहमान बर्क ने अफगानिस्तान में तालिबान पर कब्जे की तुलना भारत में ब्रिटिश राज से की है। उन्होंने कहा कि हिंदुस्तान में जब अंग्रेजों का शासन था और उन्हें हटाने के लिए हमने संघर्ष किया। ठीक उसी तरह तालिबान ने भी अपने देश को आजाद कराया है। तालिबान ने रूस, अमेरिका जैसे ताकतवर मुल्कों को अपने देश में ठहरने नहीं दिया। बताया जा रहा है कि तालिबान का समर्थन करने पर समाजवादी पार्टी के सांसद डॉ. बर्क और सपा कार्यकर्ताओं के खिलाफ गंभीर धाराओं में केस दर्ज किया गया है। संभल के एसपी ने बताया कि ऐसी सूचना मिली थी कि उन्होंने तालिबान के लड़ाकों की तुलना स्वतंत्रता सेनानियों से की थी। इसलिए सांसद के खिलाफ आपीसी की धारा 153 ।, 124 । और 295 । के तहत मामला दर्ज किया गया है। सपा सांसद के अलावा दो अन्य लोगों पर भी ऐसा ही बयान दर्ज किया गया है, जिन्होंने इससे मिलता-जुलता बयान दिया था।

sajjad-nomano 1

मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के मेंबर मौलाना सज्जाद नोमानी ने भी तालिबान सरकार को बधाई दी है। उन्होंने कहा कि यह हिन्दी मुसलमान आपको सलाम करता है। मौलाना सज्जाद नोमानी ने कहा कि एक बार फिर यह तारीख रकम हुई है। एक निहत्थी कौम ने सबसे मजबूत फौजों को शिकस्त दी है। काबुल के महल में वे दाखिल हुए। उनके दाखिले का अंदाज पूरी दुनिया ने देखा। उनमें कोई गुरूर और घमंड नहीं था। बड़े बोल नहीं थे। वे नौजवान काबुल की सरजमीन को चूम रहे हैं। मुबारक हो। आपको दूर बैठा हुआ यह हिंदी मुसलमान सलाम करता है. आपके हौसले को सलाम करता है। आपके जज्बे को सलाम करता है।

बीजेपी ने कहा, माफी मांगें सांसद
भारतीय जनता पार्टी ने सपा सांसद डॉ. बर्क से सार्वजनिक तौर से माफी मांगने को कहा है। बीजेपी ने कहा था कि भारत के स्वाधीनता संग्राम सेनानियों की तुलना तालिबानी आतंकियों से कर के सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने देश के लिए अपना सर्वस्व बलिदान करने वालों का अपमान किया है। उनकी इस मानसिकता को कभी स्वीकारा नहीं जा सकता है। इस अपमानजनक टिप्पणी के लिए सपा और सांसद को सार्वजनिक रूप से माफी मांगनी चाहिए।

यह भी पढ़ेंः-जनसंख्या नीति पर सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने दिया ऐसा बयान, कुदरत से टकराना ठीक नहीं