Sunday, January 17, 2021
Home उत्तर प्रदेश कन्नौज जा रहे सपा प्रमुख अखिलेश यादव को पुलिस ने हिरासत में...

कन्नौज जा रहे सपा प्रमुख अखिलेश यादव को पुलिस ने हिरासत में लिया, गाड़ियां भी कीं जब्त

लखनऊ। इन दिनों देश में कृषि कानून को लेकर आंदोलन जारी है। किसान आंदोलन का असर अब उत्तर प्रदेश में देखने को मिल रहा है। किसान आंदोलन (Kisan Andolan) और मांगों के समर्थन में सोमवार को कन्नौज में होने वाली किसान यात्रा (Kisan Yatra) से पहले ही पुलिस ने समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) को हिरासत में ले लिया गया है। पुलिस ने धारा-144 के उल्लंघन के मामले में सपा अध्यक्ष पर कार्रवाई की है। लेकिन पुलिस अखिलेश यादव को हिरासत में लेकर ईको गार्डन ले गई है। हिरासत से पहले अखिलेश यादव अपने निजी आवास पर नजरबंद (House Arrest) कर दिए गए थे। गिरफ्तारी के बाद सपा प्रमुख ने कहा कि समाजवादी पार्टी किसानों के साथ है। केंद्र सरकार किसानों के आंदोलन को दबाना चाहती है। हम केंद्र सरकार से मांग करते हैं कि वो कृषि कानूनों को तत्काल वापस ले। ऐसा न करने पर हमारा विरोध ऐसे ही जारी रहेगा।

इसे भी पढ़ें:- किसान आंदोलन पर सनी देओल का बयान- मैं बीजेपी के साथ और किसानों..

सपा के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने लोकसभा अध्यक्ष को पत्र लिखा है। उन्होंने इस पत्र में लिखा है कि आज वह कन्नौज आने वाले थे। मगर लखनऊ पुलिस ने उनको उनके घर में ही नजरबंद कर दिया। पुलिस ने उनकी सरकारी गाड़ी को भी अपने कब्जे में ले लिया, उनको रोकना अलोकतांत्रिक तरीका है। अखिलेश ने लोकसभा अध्यक्ष से कहा कि पूरे मामले में तत्काल हस्तक्षेप कर लोकतांत्रिक गतिविधियों के संपन्न करने में सहायता करें।

लोकसभा अध्यक्ष को लिखा पत्र

वहीं सपा के प्रवक्ता सुनील सिंह साजन ने मीडिया से कहा कि किसानों के आंदोलन को पूरे देश में बल के आधार पर दबाव बनाया जा रहा है। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने किसानों के आंदोलन को समर्थन दिया है। आज यानी 7 दिसंबर को अखिलेश यादव को कन्नौज जाना था, मगर उन्हें अलोकतांत्रिक तरीके से रोक कर नजरबन्द कर दिया गया है। क्रांतिकारियों ने अंग्रेजों को भी देखा है। इस घमंड वाली सरकार को सपा के कार्यकर्ता चूर चूर कर देंगे।

हमारे नेता किसानों के साथ हैं और हम किसानों के मुद्दे पर सदन से सड़क तक लड़ते रहेंगे। बता दें अखिलेश की अगुवाई में निकाली जानी वाली इस किसान यात्रा को समाजवादी पार्टी की 2022 विधानसभा चुनाव की तैयारी के तौर पर भी देखा जा रहा है।

सपा प्रमुख की नजरबंदी पर पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर ने बताया कि किसी को नजरबंद नहीं किया गया है। डीएम कन्नौज ने प्रस्तावित कार्यक्रम को निरस्त करने का आग्रह किया था। इस मसले पर डीएम ने सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष के निजी सचिव को पत्र भी भेजा था। कोविड-19 गाइडलाइंस और धारा 144 के कारण कार्यक्रम निरस्त करने को कहा गया है। डीएम कन्नौज के पत्र के कारण अखिलेश यादव को कन्नौज जाने से रोका गया है।

इसे भी पढ़ें:- ममता के खिलाफ बागी हुए एक और मंत्री, शुभेंदु के बाद इस मंत्री ने की बगावत, मची खलबली

Most Popular