hitesh muradabad

मुरादाबाद /लखनऊ। गत वर्ष लॉकडाउन में प्रवासी मजदूरों के लिए मसीहा बनकर उभरे फिल्म अभिनेता सोनू सूद ने मुरादाबाद के युवक को एयर लिफ्ट करा कर जिन्दगी बचाया है। नोएडा के निजी अस्पताल में मौत से लड़ रहे कोरोना संक्रमित भाई की जिंदगी बचाने के लिए बहन रेनू ने सोनू सूद को ट्वीट कर मदद की गुहार लगाई थी। सोनू सूद ने रेनू के भाई को एयर एंबुलेंस से हैदराबाद शिफ्ट कराया है। हैदराबाद के हास्पिटल में हितेश के फेफड़े ट्रांसप्लांट किए जाएंगे।
डॉ. रामस्वरूप कॉलोनी निवासी सुमन शर्मा बिजली विभाग से सेवानिवृत्त थे। परिवार में दो बेटे और दो बेटियां हैं। दूसरी लहर में उनका परिवार संक्रमित हो गया था। अप्रैल में उनका बड़ा बेटा हितेश संक्रमित हुआ। धीरे-धीरे पूरा परिवार पॉजिटिव हो गया। छह मई को सुमन शर्मा और आठ मई को उनकी पत्नी अरुणा शर्मा का निधन हो गया। बड़ा बेटा हितेश और छोटा बेटा अंकित भी संक्रमित हो गए थे। दोनों अस्पताल में भर्ती थे। संक्रमण के चलते अंकित के पैर काटने पड़े। दो महीने मुरादाबाद के निजी अस्पताल में भर्ती रहे हितेश के फेफड़े खराब हो गए थे। हितेश को नोएडा के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। हितेश की बड़ी बहन रेखा और छोटी बहन रेनू को कुछ सूझ नहीं रहा था। ऐसे हालात में 11 जुलाई को बहन रेनू ने ट्वीट कर फिल्म अभिनेता सोनू सूद से मदद की गुहार लगाई। उन्हें अपने भाई की स्थिति बताते हुए लंग ट्रांसप्लांट के लिए मदद मांगी। 12 जुलाई को ट्वीट पढ़ने के बाद सोनू सूद मदद ने मदद के लिए हाथ बढ़ाया। सोनू सूद ने 15 जुलाई को हितेश को एयर एंबुलेंस से हैदराबाद के यशोदा हॉस्पिटल में शिफ्ट कराया। हितेश का इलाज शुरू कर दिया गया है। उसके फेफड़े ट्रांसप्लांट किए जाएंगे। अभिनेता सोनू सूद ने हितेश की मदद में कोई देरी नहीं की। रेनू के ट्वीट के बाद ही सोनू सूद की एनजीओ ने अपनी कवायद शुरू कर दी थी।

sonu sood

सोनू ने हितेश को बताया फाइटर
हितेश शर्मा पिछले चार महीने से कोरोना संक्रमण से लड़ रहे हैं। संक्रमण से दोनों फेफड़े खराब हो गए। लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी। चार महीने के इस संघर्ष के लिए सोनू सूद ने ट्वीट में हितेश को फाइटर बताया है।

यह भी पढ़ेंः-राइफल देकर सोनू सूद ने की झारखंड शूटर कोनिका की मदद, सोशल मीडिया पर लोग कर रहे तारीफ

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here