बस्तीः प्राथमिक स्कूल के प्रिंसिपल पर भड़के SDM साहब, हालत देख बच्चों को खुद लगे पढ़ाने

बस्तीः उत्तर-प्रदेश के बस्ती जिले से हम हर दिन आपको रूबरू कराते हैँ। हाल ही के दिनों में हमने आपको बताया था कि, किस तरह बस्ती के बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। शिक्षक घर बैठे ही अपनी सैलरी उठा रहे हैं। लेकिन, स्कूल आने में शिक्षकों को तकलीफ हो रही है। इस कारण बेचारे बच्चे शिक्षक होते हुए भी शिक्षा से वंचित हैं। पर बस्ती जनपद में एक ऐसे भी ज्वाइंट मजिस्ट्रेट प्रेम प्रकाश मीणा हैं जो ऐसे शिक्षकों को अपने काम से जवाब दे रहे हैं। जी हां, मजिस्ट्रेट प्रेम प्रकाश मीणा जो हाल ही में हरैया विकास खंड के बरगदवा गांव में सरकारी जमीन का स्थलीय निरीक्षण करने गए थे। यहां उन्हें जमीन के प्रांगण में एक प्राथमिक विद्यालय चलता हुआ दिखाई दिया। जहां बच्चे पढ़ाई करने के बजाय शोर कर रहे थे। बच्चों के शोर की आवाज जब मजिस्ट्रेट के कानों में पड़ी तो उन्होंने स्कूल जाकर वहां का नजारा देखा। जिसे देख वह हैरान रह गए। क्योंकि, अध्यापक स्कूल समय पर नहीं आए थे और छात्रों के लिए खाना भी देशी चूल्हे पर बनाया जा रहा था। इसके अलावा स्कूल का रख-रखाव भी कुछ खास नहीं था। वहीं जब उन्होंने इस विद्यालय के बगल वाले आंगनबाड़ी केंद्र का निरीक्षण किया तो वहां के हालात भी कुछ इसी तरह थे। जो उन्हें रास तो दूर बिल्कुल भी पसंद नहीं आए।

प्रधानाध्यापक पर गुस्से से बौखलाए मजिस्ट्रेट
स्कूलों की बद्तर हालत को देखने के बाद जब उन्होंने विद्यालय में मौजूद शिक्षकों से जानकारी मिली तो उनका गुस्सा सातंवे आसमान पर पहुंच गया। एसडीएम ने जब गैस चूल्हे के बारे में पूछा तो प्रिंसिपल ने बताया कि, कुछ महीनों पहले गैस चूल्हा चोरी हो गया था। इस कारण खाना देशी चूल्हे पर बनाया जाता है। इतना सुनते ही उन्होंने प्रधानाध्यापक को फटकार लगाते हुए जल्द से जल्द स्कूल की हालत ठीक करने के आदेश दिए।

बस्तीः प्राथमिक स्कूल की हालत देख नाराज हुए SDM साहब, प्रधानाध्यापक को लगाई फटकार

बस्तीः प्राथमिक स्कूल की हालत देख नाराज हुए SDM साहब, प्रधानाध्यापक को लगाई फटकार

Posted by UP Varta on Sunday, December 8, 2019

एसडीएम ने बच्चों को पढ़ाया
स्कूल की हालत देख एसडीएम को जितना गुस्सा प्रिंसिपल पर आया। उससे कई ज्यादा तरस उन्हें बच्चों की हालत पर आया। इसलिए उन्होंने खुद ही बच्चों को पढ़ाने का जिम्मा उठाया और बच्चों से किताब लेकर उन्हें पढ़ाने लगे। इस दौरान स्कूल में पंजीकरण के मुताबिक, बच्चों की संख्या में भी कमी पाई गई। बच्चे स्कूल तो आ रहे हैं लेकिन, उन्हें ज्ञान कुछ भी नहीं था। इस पर भी एसडीएम ने सहायक अध्यापक को जमकर फटकार लगायी और कहा कि, अब सुधर जाए वरना सख्त से सख्त कार्यवाही होगी।

ये भी पढ़ेंः- बस्ती के प्राइमरी स्कूल में पढ़ाने वाले शिक्षक बने दगाबाज, ऐसे हो रहा है बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

1,092,598FansLike
5,000FollowersFollow
5,023SubscribersSubscribe

Latest Articles