satish chandra mishra

मऊ। विधानसभा चुनाव के करीब आने से पहले ही राजनीतिक दल अपने पैंतरे के साथ गावों में वादे ले कर पहुंचने लगे हैं। बहुजन समाज पार्टी प्रदेशभर में प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन कर रही है। मऊ बसपा के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा ने प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन किया। मधुवन के खीर कोठा में हुए सम्मेलन के दौरान सतीश चंद्र मिश्रा ने भारतीय जनता पार्टी पर जमकर निशाना साधा। सम्मेलन के दौरान सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा कि बीजेपी ने श्रीराम के नाम पर नोट और वोट दोनों लिये। उन्होंने भारतीय जनता पार्टी पर काम कुछ नहीं किया का आरोप लगाया। सतीश चन्द्र मिश्रा ने कहा कि बीजेपी ने सिर्फ जनता को ठगा है। अयोध्या में आए दिन 200 करोड़ के बजट पास होते हैं लेकिन वहां पर कोई काम नहीं हुआ। सतीश चन्द्र मिश्रा ने कहा कि जो घाट का निर्माण हुआ है वह बसपा सरकार के कार्यकाल का है। अगर बसपा की सरकार बनी तो राम मंदिर निर्माण के नाम पर बीजेपी ने जो भी घोटाला किया है उसकी जांच होगी।

विधानसभा चुनाव से पहले बहुजन समाज पार्टी ने ब्राह्मण और दलित वोट बैंक को एकसाथ करने की कोशिशें शुरू कर दी हैं। ब्राह्मण मतों को एक साथ अपने पक्ष में करने के लिए सतीश चंद्र मिश्रा प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन कर रहे हैं। सम्मेलनन की शुरुआत श्रीराम नगरी अयोध्या से हुई थी। शुक्रवार को मऊ में पहुंचे मिश्रा ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने हिंदुत्व के नाम पर वोट लिया लेकिन फिर बाद में ब्राह्मणों पर सीधे अत्याचार शुरू कर दिया। बीजेपी के राज में चुन-चुन कर बड़े ब्राह्मणों की हत्या कराई जा रही है। उन्होंने कहा कि जिस तरीके से कानपुर में ब्राह्मणों के साथ हुआ वह किसी से छिपा नहीं है।

सतीश चन्द्र मिश्रा ने राम मंदिर निर्माण को लेकर भी भारतीय जनता पार्टी को घेरा। उन्होंने कहा कि अयोध्या में मंदिर निर्माण के नाम पर केवल पैसे खर्च हो रहे हैं लेकिन जमीनी स्तर पर कुछ भी काम नहीं दिख रहा है। वाराणसी में पूरी तरीके से विश्वनाथ मंदिर से जुड़ी आस्था को भी खत्म कर दिया जा रहा है। गंगा में मलबा डालकर अर्धचंद्राकार गंगा की रूपरेखा को बदला जा रहा है जिससे पूरी तरीके से आस्था को चोट पहुंच रही है।

यह भी पढ़ेंः-ब्राह्मणों पर अत्याचार नहीं सहा जाएगा, 13 और 23 फीसदी मिल कर बनायेंगे सरकार : सतीश