रीता बहुगुणा जोशी के बेटे मयंक जोशी कर सकते हैं साइकिल की सवारी, सपा से ये उम्मीद

0
547
rita joshi mayank joshi
  • लखनऊ कैंट सीट पर सपा बदल सकती है प्रत्याशी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की लखनऊ कैंट सीट पर अभी भी रार, तकरार के साथ सियासी खेल खेला जा रहा है। भारतीय जनता पार्टी से टिकट नहीं मिलने के बाद अब उम्मीद की जा रही है कि बीजेपी सांसद रीता बहुगुणा जोशी के बेटे मयंक जोशी साइकिल की सवारी कर सकते हैं। मयंक जोशी के लिए सपा में पूरी तैयारी कर ली गयी है। बताया जा रहा है कि यूपी विधानसभा चुनाव के लिए अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी लखनऊ कैंट सीट से भाजपा सांसद रीता बहुगुणा जोशी के बेटे मयंक जोशी पर अभी भी दांव लगा सकती है। ज्ञात हो कि रीता बहुगुना जोशी ने अपने बेटे मयंक को भाजपा से टिकट दिलवाने के लिए सांसद के पद से इस्तीफा देने की पेशकश की थी। उन्होंने कहा था एक परिवार एक पद है तो वह इस्तीफा दे सकती हैं।

समाजवादी पार्टी ने लखनऊ जिले की सभी सीटों के लिए उम्मीदवारों का ऐलान भले ही कर दिया है, मगर मयंक जोशी के लिए कोई एक रास्ता बना सकता है। लखनऊ के कुछ उम्मीदवारों को बदला जा सकता है, जिसमें सबसे चर्चित मयंक जोशी को लखनऊ कैंट सीट से समाजवादी पार्टी उतार सकती है। सरोजनीनगर विधानसभा पर भी स्वाती सिंह को लेकर चर्चा तेज है। स्वाती सिंह को भारतीय जनता पार्टी ने टिकट नहीं दिया है।

मौजूदा भाजपा सांसद रीता बहुगुणा जोशी ने साल 2017 में चुनाव लड़ा था और मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव को मात दी थीं। उस समय अपर्णा यादव लखनऊ कैंट सीट से सपा की प्रत्याशी थीं। ज्ञात हो कि मंगलवार को भाजपा ने उम्मीदवारों की एक लिस्ट जारी की है, जिसमें यह स्पष्ट हो गया कि बीजेपी ने मयंक जोशी को टिकट नहीं दिया है। भाजपा ने लखनऊ कैंट सीट से राज्य के कानून मंत्री बृजेश पाठक को इस सीट से उतारा है।

टिकट बंटवारे से पहले ही भाजपा सांसद रीता बहुगुणा जोशी ने कहा था कि अगर पार्टी मयंक जोशी को लखनऊ कैंट सीट से टिकट देती है तो वह लोकसभा सांसद के पद से इस्तीफा दे देंगी। इसके लिए उन्होंने जेपी नड्डा को खत भी लिखा था। मगर भाजपा ने उनके बेटे को टिकट नहीं दिया। ज्ञात हो कि लखनऊ में नामांकन के लिए 3 फरवरी आखिरी तिथि है।

ये भी पढ़ेंः-सांसद रीता बहुगुणा जोशी ने बेटे के लिए मांगा टिकट, भाजपा के लिए रखी ये शर्त