Monday, December 6, 2021

राहुल-प्रियंका के करीबी अल्लू मियां ऐसे हुआ गिरफ्तार, जालसाजी व रंगदारी मांगने का है मामला

Must read

- Advertisement -

लखनऊ। अमेठी के जगदीशपुर के निहालगढ़ के निवासी कांग्रेस नेता अल्लू मियां को लखनऊ की वजीरगंज पुलिस ने जालसाजी के साथ ही रंगदारी मांगने के मामले में शनिवार देर रात गिरफ्तार किया। अल्लू मियां शनिवार को लखनऊ में प्रियंका गांधी वाड्रा की कांग्रेस प्रतिज्ञा यात्रा में शामिल होने आया था। लखनऊ में पुलिस ने फन मॉल के पास से पकड़ा। रायबरेली के साथ ही अमेठी की राजनीति में कांग्रेस की तरफ से बेहद सक्रिय राहुल गांधी के करीबी अल्लू मियाँ को लखनऊ में जमीन कब्जा करने, जालसाजी तथा रंगदारी मांगने के आरोप में वजीरगंज पुलिस ने गिरफ्तार किया। उसके खिलाफ जमीन कब्जा करने, जालसाजी, रंगदारी मांगने समेत अन्य धाराओं में वजीरगंज कोतवाली में मुकदमा दर्ज है। अमेठी के जगदीशपुर के निहालगढ़ के निवासी कांग्रेस नेता मोहम्मद रफीक उर्फ अल्लू मियां की गिरफ्तारी की पुष्टि इंस्पेक्टर वजीरगंज धनंजय पांडेय ने की है। इंस्पेक्टर वजीरगंज ने बताया कि आठ मई को अल्लू मियां, उनकी पत्नी मेहरुनिशा और बेटे आदिल के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ था।

- Advertisement -

मुकदमा कैसरबाग के कसाईबाड़ा में रहने वाले वैभव श्रीवास्तव ने दर्ज कराया था। वैभव ने तहरीर में आरोर लगाया था कि उन्होंने अगस्त 2019 में गोमतीनगर के विशालखंड में रहने वाली मंजू रावत से उनका खरगापुर स्थित प्लाट खरीदा था। वैभव के साथ ही उस प्लाट में मित्र माजिन खान भी पार्टनर थे। माजिन खान और वह प्लाट पर अपार्टमेंट बनवा रहे थे। इस बीच अल्लू मियां के बेटे आदिल ने दावा किया कि यह प्लाट तो उनका है। उसने फर्जी दस्तावेज के माध्यम से किसी से प्लाट की रजिस्ट्री कराने का दावा किया। इस बात को लेकर विवाद हुआ था। प्लाट छोड़ने के लिए उसने रुपयों की मांग की। मांग पूरी न होने पर धमकी दी थी। वैभव ने बताया कि धमकी से वह बहुत तनाव में था। उसने अधिकारियों को मामले की जानकारी दी। वैभव का कहना है कि प्लाट ममता सहकारी गृह निर्माण समिति का था।

allu mia

ऐसे देता था धमकी

पुलिस के मुताबिक विवाद के बाद कांग्रेस नेता अल्लू ने दिसंबर माह में वैभव को फोन करके समझौते के लिए बुलाया था। वहां पर अल्लू ने धमकी दी थी। उसने निर्माधीन अपार्टमेंट से दो फ्लैट बेटे और पत्नी के नाम करने को कहा था। वैभव और पार्टनर जब तैयार नहीं हुए तो धमकी दी थी। इसके बाद वैभव ने अधिकारियों से शिकायत की। अधिकारियों के आदेश पर पूरे मामले की जांच एसीपी चैक आइपी सिंह को सौंपी गई। जांच में वैभव के सभी आरोप सही पाए गए। इसके बाद अल्लू उनकी पत्नी और बेटे के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था। वजीरगंज पुलिस के मुताबिक अल्लू मियां पांच माह से धोखाधड़ी और रंगदारी के मामले में फरार चल रहे थे। अल्लू मियां शनिवार को कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा की प्रतिज्ञा यात्रा में शामिल लखनऊ आया था। इसी बीच पुलिस ने सूचना मिलते ही फन माल के पास से गिरफ्तार कर लिया। अल्लू मियां अमेठी में लोकसभा के साथ ही विधानसभा चुनाव के दौरान राहुल गांधी तथा प्रियंका गांधी के बेहद करीब दिखता था। उनकी सभाओं में भी वह सक्रिय भूमिका में रहता है।

यह भी पढ़ेंः-प्रियंका का ऐलान लड़की हूं, लड़ सकती हूं, 40 % महिलाओं को टिकट देगी कांग्रेस

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article