राहुल गांधी को लाठियों से पीटा! कार्यकर्ताओं का तो बुरा हाल, पूरा जान लिया तो कांप उठेंगे आप

83

इस वक्त की सबसे बड़ी खबर तो फिलहाल यही है कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी व प्रियंका गांधी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने उन्हें हाथरस पीड़िता से मुलाकात करने के क्रम में गिरफ्तार किया। सरकार के खाकीवर्दी वाले और कानून के रक्षक लगातार विपक्ष की आवाज को राजनीतिकरण का हलावा देकर दबाने की जुगत में जुटे हैं। उधर, राहुल और प्रियंका के साथ जिस तरह का सुलूक प्रदेश की पुलिस ने किया उसने अभद्रताओं की सीमाओं को लांघ दिया है। यह बयान है कांग्रेस का। इस धक्कामुक्की के दौरान राहुल गांधी जमीन पर भी गिर पड़े। उधर, पार्टी प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि पुलिस ने राहुल गांधी को लाठियों से पीटा। हमारे कार्यकर्ताओं को घायल कर दिया। आखिर इतना क्यों डरी हुई है, सरकार।

गौरतलब है कि अभी पूरे देश में हाथरस पीड़िता को इंसाफ दिलाने के लिए आवाज अपने शबाब पहुंच चुकी है। पूरा देश चाहता है कि आरोपियों को सख्त से सख्त से सजा मिल सके। यहां तक की पीड़िता के परिवार सहित पूरा देश उत्तर प्रदेश पुलिस के उस रूख से खफा है। जिस रूख का परिचय उन्होंने हाथरस गैंगरेप पीड़िता के मामले में दी है। उधर, जब आज राहुल और प्रियंका पीड़िता के परिवार से मिलने पहुंचे तो पुलिस प्रशासन का कहर उन पर इस तरह बरसा, जिसकी तसव्वुर उन्होंने भी पहले कभी नहीं की थी।

प्रियंका गांधी का फूटा गुस्सा 
उधर, राहुल गांधी के साथ हुए इस सुलूक पर प्रियंका गांधी अपने रोष को ट्वीटर पर शब्दों का सहारा लेते हुए ट्वीट कर कहा कि हाथरस जाने से हमें रोका। राहुल जी के साथ हम सब पैदल निकले तो बारबार हमें रोका गया, बर्बर ढंग से लाठियाँ चलाईं। कई कार्यकर्ता घायल हैं। मगर हमारा इरादा पक्का है। एक अहंकारी सरकार की लाठियाँ हमें रोक नहीं सकतीं। काश यही लाठियाँ, यही पुलिस हाथरस की दलित बेटी की रक्षा में खड़ी होती।

वहीं, राहुल गांधी भी पीछे नहीं रहे। उन्होंने  पुलिस के इस रवैये से खफा होते हुए प्रदेश सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि दुख की घड़ी में अपनों को अकेला नहीं छोड़ा जाता। यूपी में जंगलराज का ये आलम है कि शोक में डूबे एक परिवार से मिलना भी सरकार को डरा देता है। इतना मत डरो, मुख्यमंत्री महोदय। इससे पहले भी प्रियंका ने ट्ववीट कर योगी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा था कि  हाथरस जैसी वीभत्स घटना बलरामपुर में घटी, लड़की का बलात्कार कर पैर और कमर तोड़ दी गई। आजमगढ़, बागपत, बुलंदशहर में बच्चियों से दरिंदगी हुई। यूपी में फैले जंगलराज की हद नहीं। मार्केटिंग, भाषणों से कानून व्यवस्था नहीं चलती, ये मुख्यमंत्री की जवाबदेही का वक्त है जनता को जवाब चाहिए। ये भी पढ़े :बहन के साथ जेवर थाने पहुंचे राहुल गांधी, प्रियंका बोलीं- अहंकारी सरकार की लाठियां हमें नहीं रोक सकती