priyanka gandhi gpo 3

लखीमपुर खीरी /लखनऊ। लखीमपुर कांड प्रदेश की सियासत का बड़ा मुद्दा बन गया है। विपक्ष किसानों के साथ सत्ता पक्ष को निशाने पर ले रहा है। उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले के तिकुनिया में तीन अक्टूबर को किसानों के साथ हुई आठ लोगों की मौत पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी लगातार हमलावर हैं। आशीष मिश्रा की गिरफ्तारी के बाद प्रियंका गांधी अब उनके पिता केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा की गिरफ्तारी पर अड़ गई हैं। प्रियंका गांधी ने ट्वीट के जरिये पूछा कि जब मंत्री का बेटा किसानों की हत्या के आरोप में गिरफ्तार है तो मंत्री को पद पर बने रहने का अधिकार है? प्रियंका ने कहा कि निष्पक्ष जांच के लिए केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र टेनी की बर्खास्तगी जरूरी है। प्रियंका गांधी ने प्रधानमंत्री पीएम मोदी को ट्वीट टैग करते हुए लिखा कि अपने मंत्री को संरक्षण देना बंद करिये।

इससे पहले सोमवार को प्रियंका गांधी ने गृह राज्यमंत्री की बर्खास्तगी की मांग करते हुए लखनऊ में मौन व्रत किया था। हजरतगंज स्थित गांधी प्रतिमा के समक्ष प्रियंका के साथ ही लखनऊ में कई बड़े नेताओं और सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने भी धरना दिया। लखनऊ के साथ ही यूपी के सभी जिलों के अलावा देश के अलग अलग हिस्सों में भी कांग्रेसियों ने राजभवन के सामने धरना दिया। सभी ने लखीमपुर कांड में केंद्रीय गृहराज्यमंत्री अजय मिश्रा का इस्तीफा मांगा है। प्रियंका के इस हमलावर रूख से सत्ता पक्ष अब बचाव की मुद्रा में दिख रहा है।

ज्ञात हो कि तीन अक्टूबर को किसानों को कार से रौंदे जाने की वारदात लखीमपुर शहर से लगभग 60 किलोमीटर दूर तिकुनिया-बनबीरपुर रोड पर हुई है। जब किसान उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के पैतृक गांव बनबीरपुर जाने का विरोध कर रहे थे। इस हिंसा में चार किसान, एक पत्रकार और तीन अन्य की मौत हो गई थी। मरने वाले किसानों में दो लखीमपुर खीरी और दो पड़ोसी बहराइच जिले के थे।

यह भी पढ़ेंः-केंद्रीय गृहराज्य मंत्री की बर्खास्तगी की मांग को लेकर धरने पर बैंठी प्रियंका, ऐसे बढ़ाया सियासी तनाव