Saturday, January 23, 2021
Home उत्तर प्रदेश बस्ती-टिकट हैकर हामिद के गुर्गों को पुलिस ने धर दबोचा

बस्ती-टिकट हैकर हामिद के गुर्गों को पुलिस ने धर दबोचा

बस्ती पुलिस और आरपीएफ की टीम को बड़ी सफलता हाथ लगी, रल्वे टिकट हैकर के मास्टर माइंड हामिद के पिता जमीरूल और साथी योगेन्द्र को पुलिस ने अरेस्ट किया है, गैंग के सरगना हामिद के ठिकानों पर पुलिस ने छापेमारी की, छापेमारी में 12 करोड़ की सम्पत्ति के दस्तावेज बरामद हुए हैं, मुम्बई के अहमदनगर में 2 करोड़ कीमत का प्लाट,थाणे में 1 करोड़ का फलैट, बस्ती के कप्तानगंज में 3 करोड़ का एचएमडी माल, बनकटा मिश्र में ढाई बीघा जमीन कीमत 1 करोड़ समेत कई अन्य प्रापर्टी के दस्तावेज बरामद हुए हैं, 60 लाख के बाण्ड पेपर, 18 खातों में 30 लाख रूपए जब्त किए गए हैं, इस के अलावा एक कार,लैपटाप,6 मोबाइल बरामद हुई है, अब तक हामिद गैंग के 5 सदस्यों को पुलिस अरेस्ट कर चुकी है, लेकिन मास्टर माइण्ड अशरफ अभी पुलिस की पकड़ से दूर है, नेपाल में छिपे होने की आशंका जताई जा रही है, हामिद को सीबीआई की टीम भी तलाश कर रही है.ये भी पढ़े : बस्ती: टिकट हैकर हामिद अशरफ गैंग के 3 गुर्गे हुए गिरफ्तार, जानिए पूरा मामला 

आप को बता दें 27 अप्रैल 2016 की रात में सीबीआई बैंगलोर की टीम ने हामिद के पुरानी बस्ती के ठिकाने पर छापेमारी कर अरेस्ट किया था, बाद में हामिद जमानत पर बाहर आ गया, कुछ साल शांत रहने के बाद फिर से अपने पुराने काम रेल्वे की साइट को हैक करके टिकट बनाने लगा, इस के बाद इस के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया, जिसके बाद से यह फरार चल रहा है, इस के नेपाल में छिपे होने की आशंका जताई जा रही है.

आप को बता दें हामिद हाईस्कूल पास है उसने रेल्वे रिजर्वेशन ई-टिकट को बुक करने के लिए साफ्टवेयर बनाया, साफ्टवेयर का नाम रेडमिर्ची और एएनएसएस रखा, इस साफ्टवेयर के माध्यम से रेल्वे के तत्काल टिकट को रेल्वे की साइट खुलते ही हैक कर बुक कर लिया जाता था, हामिद ने इस साफ्टवेयर को देश के कई राज्यों में एजेंटों को बेचा और उस का कंट्रोल लागिन अपना हैण्डल करता था, इस के एवज में एजेंटों द्वारा टिकट की बुकिंग पर कमीशन और साफ्टवेयर के लिए महीना तय किया गया, इस नेटवर्क से हामिद ने करोड़ो की काली कमाई की, बहरहाल इस नेटवर्क को टोड़ने का अभियान चलाया जा रहा है, लेकिन मास्टरमाइड हामिद अभी पुलिस की पकड़ से दूर है।ये भी पढ़े :जब पिता ने बेटी को किया सैल्यूट तो सभी की आंखों में थे खुशी के पल

बस्ती से रजनीश कुमार पांडेय कि रिपोर्ट 

Most Popular