Friday, December 3, 2021

PM MODI  ने किया पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का लोकार्पण, विकास और विरासत पर कही ये बात

Must read

- Advertisement -

सुल्तानपुर /लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उत्तर प्रदेश के सबसे बड़े 341 किलोमीटर के पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का लोकार्पण कर दिया है। इस मौके पर उन्होंने अपने भाषण की शुरुआत स्थानीय बोली में की। पीएम ने कहा जोवने धरती पर हनुमान जी कालनेमि राक्षस का वध किए रहे वो धरती के हम प्रणाम करत है। 1857 की लड़ाई में यहां के लोग अंग्रेजन के…। ये धरती के कण-कण मा स्वतंत्रता संग्राम के खुशबू बा। पीएम मोदी ने सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि पूरी दुनिया में उत्तर प्रदेश और यूपी के लोगों के सामर्थ्य पर जरा भी संदेश हो तो यहां सुल्तानपुर में आकर देख सकता है। तीन साल पहले जहां पर सिर्फ जमीन थी वहां से आज इतना शानदार एक्सप्रेस वे गुजर रहा है। तीन साल पहले जब मैंने इसका शिलान्यास किया था तो यह नहीं सोचा था कि एक दिन यहां विमान से खुद उतरुंगा। उन्होंने कहा कि ये एक्सप्रेस वे नए युग के निर्माण का एक्सप्रेस वे है। ये यूपी की मजबूत होती अर्थव्यवस्था का एक्सप्रेस वे है। ये यूपी की शान है। ये यूपी का कमाल है। इसके पहले उद्घाटन समारोह का आगाज रंगारंग कार्यक्रमों से किया गया। पीएम मोदी ने कहा कि हमारे जिन किसान भाई-बहनों की भूमि इसमें लगी है जिन श्रमिकों का पसीना इसमें लगा है, जिन इंजीनियरों का कौशल इसमें लगा है, उनका भी मैं बहुत-बहुत अभिनंदन करता हूं।

- Advertisement -

गरीबी और माफियावाद के हवाले कर दिया था उत्तर प्रदेश

पीएम मोदी ने कहा कि मैं इस एक्सप्रेस वे को समर्पित करते हुए अपने आप में धन्य महसूस कर रहा हूं। देश का संपूर्ण विकास करने के लिए देश का संतुलित विकास भी उतना ही आवश्यक है। कुछ क्षेत्र विकास की दौड़ में आगे चले जाएं और कुछ दशकों पीछे रह जाएं, ये असमानता किसी भी देश के लिए ठीक नहीं है। भारत में भी जो हमारा पूर्वी हिस्सा रहा है, ये पूर्वी भारत नॉर्थ ईस्ट के राज्य, विकास की इतनी संभावना होने के बावजूद इन्हें देश में हो रहे विकास का उतना लाभ नहीं मिला, जितना मिलना चाहिए था। उन्होंने विपक्ष पर निशाना साधा। यूपी में भी जिस तरह की राजनीति हुई, जिस तरह से लंबे समय तक सरकारें चलीं, उन्होंने यूपी के संपूर्ण विकास पर ध्यान ही नहीं दिया। यूपी का ये क्षेत्र तो माफियावाद और यहां के नागरिकों को गरीबी के हवाले कर दिया गया था।

यूपी के विकास को मिलेगी रफ्तार : योगी

इससे पहले कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए सीएम योगी ने कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे सिर्फ आवागमन का माध्यम नहीं बल्कि पूर्वी उ.प्र. जो आजादी के बाद से भौतिक विकास के मापदंडों को पूरा करने में विफल रहा था। उस पूर्वी उ.प्र. को विकास की नई जीवन रेखा के रूप में स्थापित किए जाने वाले प्रयास का हिस्सा होगा। सीएम योगी ने कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेस वे से यूपी के विकास को रफ्तार मिलेगी। उन्होंने प्रदेश में अपनी सरकार के कार्यकाल के दौरान की उपलब्धियों का उल्लेख किया। सीएम योगी ने कहा कि कोविड काल की चुनौतयिों के बावजूद पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का काम 3 साल में पूरा किया गया। इस एक्सप्रेस वे पर लड़ाकू विमान उतर रहे हैं।
इससे पहले पीएम मोदी का स्वागत सीएम योगी ने किया। उन्होंने पीएम को एक मूर्ति भी भेंट की। पीएम मोदी के साथ यूपी की राज्यपाल आनंदीबेन पटेेल आदि उपस्थित रहे। पीएम मोदी ने हरक्यूलिस विमान से पूर्वांचल एक्सप्रेस वे लैंड किया है। उद्घाटन कार्यक्रम में पीएम के स्वागत ढोल-नगाड़े की धुन पर लोक कलाकारों ने किया। रंगबिरंगी पोशाकों में कलाकार सुबह से ही अलग-अलग कार्यक्रमों की प्रस्तुति दिया।

ऐसा है पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे

पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे राज्य के पूर्वी और पश्चिमी इलाकों को जोड़ेगा। इससे लखनऊ से गाजीपुर तक की यात्रा सिर्फ साढ़े चार घंटे में पूरी की जा सकेगी। लखनऊ के चांद सराय से शुरू होकर गाजीपुर तक पहंचने वाले इस एक्सप्रेस-वे को बनाने पर 22 हजार 497 करोड़ रुपए का खर्च आया है। यह एक्सप्रेस- वे लखनऊ, बाराबंकी, अमेठी, अयोध्या, सुल्तानपुर, अम्बेडकरनगर, आजमगढ़, मऊ और गाजीपुर प्रदेश के कुल नौ जिलों से गुजरेगा। अभी एक्सप्रेस-वे छह लेन का है जिसे बाद में बढ़ाकर आठ लेन तक किया जा सकेगा। फिलहाल इस एक्सप्रेस-वे को टोल टैक्स से मुक्त रखा गया है।

यह भी पढ़ेंः-सपा नेताओं ने आजमगढ़ में किया एक्सप्रेस वे का सांकेतिक लोकार्पण, पुष्प वर्षा कर चलाई साइकिल

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article