CAA के बहाने पाक PM इमरान खान ने यूपी पुलिस पर लगाए आरोप, बदले में पुलिस ने ऐसे लगाई लताड़

0
106
Imran khan

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान इन दिनों काफी बौखलाए हुए हैं, और किसी भी तरह से वो पूरी दुनिया में ये साबित करना चाहते हैं कि भारत में नागरिकों के साथ ज्यादती हो रही है. ये पूरी दुनिया से नहीं छुपा है कि किस तरह से पाकिस्तान में अपनी राजनीतिक रोटियां सेंकने के लिए नेता आतंकियों का सहारा लेते हैं. लेकिन इमरान खान हैं कि चोरी करने के बाद सीनाजोरी भी करते हैं, लेकिन इतना दिमाग नहीं लगा पाते कि वो जो कर रहे हैं उसमें कितनी सच्चाई है, नीचा दिखाने की बजाय अगर इमरान थोड़ा सा दिमाग किसी अच्छी चीज को सोचने में लगाएं तो शायद कुछ हो सकता है लेकिन वो ऐसा करना ही नहीं चाहते और हर बार उनको भारत की तरफ से मुंह की ही खानी पड़ती है.

दरअसल ये सब हम इसलिए कह रहे हैं क्योंकि जहां भारत में नागरिकता संशोधन कानून को लेकर लगातार विरोध-प्रदर्शन हो रहा है तो वहीं इमरान खान भी बहती गंगा में हाथ धोने निकल पड़े हैं. उन्होंने अपने ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट से एक वीडियो पोस्ट किया जिसे उन्होंने उत्तर प्रदेश का बताया. इसके साथ ही ये भी बताने की कोशिश की कि यहां पर मुस्लिम समुदाय के साथ कथित तौर पर पुलिस ज्यादती कर रही है. इस फर्जी वीडियो को पोस्ट करने के साथ-साथ इमरान खान ने इसे नागरिकता संशोधन कानून से जोड़ते हुए कैप्शन में लिखा कि, ‘मोदी सरकार के जातीय सफाए के तहत भारतीय पुलिस मुसलमानों पर हमला करते हुए’.

इमरान का ये वीडियो जैसे ही ट्विटर पर पोस्ट हुआ, वैसे ही इनके झूठ और फर्जी वीडियो का काला चिट्ठा खोलते हुए यूपी पुलिस ने पलटवार करते हुए इमरान को उन्हीं की भाषा में लताड़ लगाते हुए उनकी ‘गलतफहमी’ को दूर कर दिया. उत्तर प्रदेश की पुलिस ने ट्विटर पर इमरान खान को जवाब देते हुए ये पुष्टि की कि इन वीडियो का उत्तर प्रदेश से कोई लेना-देना नहीं है. ये वीडियो यूपी का नहीं बल्कि बांग्लादेश का है.

इमरान का ये झूठ तभी सामने आ गया जब ये खुलासा हुआ कि ये वीडियो उत्तर प्रदेश की तो दूर भारत के किसी भी कोने का नहीं है, बल्कि ये वीडियो बांग्लादेश का है. यूपी की की पुलिस ने इमरान को इस वीडियो का पूरा डाटा देते हुए बताया कि वीडियो मई 2013 में बांग्लादेश के ढाका की घटना का है. वीडियो में इमरान ने जिन पुलिसवालों को यूपी का बताया उनकी वर्दी पर आरएबी लिखा हुआ है. जिसका मतलब है रैपिड एक्शन बटैलियन. ये बांग्लादेश पुलिस की आतंकरोधी इकाई है. हालांकि लताड़ लगने के बाद इमरान खान ने इस ट्वीट डिलीट कर दिया.

ये भी पढ़ें:- CAA के विरोध में उपद्रवियों की दरिंदगी, 30 पुलिसकर्मियों को कि जिंदा जलाने की कोशिश 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here