Monday, December 6, 2021

अब चाचा-भतीजा होंगे साथ-साथ, अखिलेश ने शिवपाल के लिए कही ये बात

Must read

- Advertisement -

लखनऊ। चाचा-भतीजा फिर एक साथ होंगे। अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी और उनके चाचा शिवपाल सिंह यादव की प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के बीच जल्द ही गठबंधन का ऐलान होने वाला है। सपा और प्रसपा के गठबंधन के संकेत सोमवार को सपा मुखिया अखिलेश यादव ने दिये। उन्होंने कहा कि चाचा के साथ आने पर उन्हें कोई समस्या नहीं है। उन्हें और उनके लोगों को समाजवादी पार्टी में उचित सम्मान दिया जाएगा। इससे माना जा रहा है कि चाचा-भतीजा का सियासी समीकरण अब एक साथ काम करेगा। इससे पहले शिवपाल कई बार इस बात का जिक्र कर चुके हैं कि वह तो गठबंधन के लिए तैयार हैं लेकिन अखिलेश की तरफ से जवाब नहीं आ रहा है।

- Advertisement -

Shivpal singh-akhilesh yadav

मुलायम सिंह ने पूछा था कब आ रहे हो साथ

मेरठ में समाजवादी पार्टी से गठबंधन की खबरों पर प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के चीफ शिवपाल सिंह यादव ने अपनी प्रतिक्रिया दी थी। शिवपाल यादव ने कहा कि नेताजी मुलायम सिंह यादव ने उनसे पूछा था कि अखिलेश के साथ एक कब हो रहे हो। बुलंदशहर में शिवपाल यादव ने कहा कि समान विचार धारा वाले दलों से उत्तर प्रदेश में गठबंधन किया जाएगा। वह सपा से गठबंधन के लिए भी तैयार हैं। उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनावों में भाजपा को हराना जरूरी है। यदि अखिलेश नहीं माने तो छोटी पार्टियों से गठबंधन कर भाजपा को हराया जाएगा। उन्हांेने कहा कि भाजपा को सत्ता से रोकना होगा।

चाचा-भतीजे का रिश्ता है, जो हमेशा रहेगा

शिवपाल यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश में सत्ता परिवर्तन के लिए सामाजिक परिवर्तन रथ यात्रा निकाली जा रही है। भाजपा सरकार में किसान, मजदूर, व्यापारी हर वर्ग परेशान है। भ्रष्टाचार व बेरोजगारी बढ़ गई है। रसोई गैस, पेट्रोल, डीजल की कीमतें दो गुनी हो गईं। उन्होंने कहा कि जनता भाजपा की जन विरोधी नीतियों से परेशान है। शिवपाल यादव ने कहा कि सत्ता में आते ही बीए पास करने वाले छात्रों को 5 लाख रुपये दिये जाएंगे। इससे पूर्व शिवपाल यादव सामाजिक परिवर्तन यात्रा का रथ लेकर बराल पहुंचे। प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल यादव ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि सपा से यदि गठबंधन नहीं हुआ तो किसी राष्ट्रीय दल से गठबंधन करेंगे। यदि सपा से उनका गठबंधन नहीं हुआ तो नेताजी मुलायम सिंह यादव उनके साथ रहेंगे। उन्होंने कहा कि उनके अखिलेश से चाचा-भतीजे का रिश्ता है, जो हमेशा रहेगा।

यह भी पढ़ेंःअखिलेश का बड़ा ऐलान नहीं लड़ेंगे विधानसभा चुनाव, रालोद से गठबंधन पर कही ये बात

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article