लखनऊ। उत्तर प्रदेश में सरकार ने एक सितंबर से कक्षा पहली से पांचवीं तक के लिए स्कूलों में ऑफलाइन कक्षायें शुरू होंगी। सरकार पांचवी तक की कक्षाओं को लेकर गाइडलाइन जारी कर दी है। वहीं स्कूलों में कक्षा 6 से 8वीं तक के लिए 23 अगस्त से विद्यालयों में कक्षायें चलेंगी। कोरोना मामलों में कमी को देखते हुए सरकार ने फैसला लिया था कि उत्तर प्रदेश बोर्ड के प्राइमरी और सेकेंडरी स्कूल 23 अगस्त से खुलेंगे। सीएम योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को टीम-9 के पदाधिकारियों के साथ बैठक की थी। बैठक में निर्देश दिया था कि रक्षा बंधन के बाद स्कूलों में पठन-पाठन षुरू हो जाये। कक्षा 6 से 8वीं 23 अगस्त से और कक्षा 1 से 5 वीं कक्षा के स्कूल एक सितंबर से खुलेंगे। राज्य स्तरीय स्वास्थ्य विशेषज्ञ सलाहकार समिति की सिफारिशों के अनुसार माध्यमिक, उच्च, तकनीकी और व्यावसायिक शिक्षण संस्थानों में 50 प्रतिशत क्षमता के साथ सोमवार से शिक्षा शुरू हो रही है। विद्यार्थियों को रोटेषन के अनुसार बुलाया जाएगा।

राज्य स्तरीय स्वास्थ्य विशेषज्ञ सलाहकार समिति की सिफारिशों के अनुसार माध्यमिक, उच्च, तकनीकी और व्यावसायिक शिक्षण संस्थानों में 50 प्रतिशत क्षमता के साथ सोमवार से शिक्षा शुरू हो रही है। हर जगह कक्षाएं दो पालियों में चलेंगी। कक्षाओं से पहले स्कूलों में कोविड प्रोटोकॉल का भी पूरा ध्यान रखा जाएगा। विद्यार्थियों, शिक्षकों के साथ विद्यालय परिसर में दो गज की दूरी को बनाये रखा जाएगा। ज्ञात हो कि इससे पहले सरकार ने 16 अगस्त से कक्षा 9वीं से 12वीं तक के स्कूल, विश्वविद्यालय, कॉलेज और कोचिंग संस्थान खोलने का फैसला किया था। इस संबंध में राज्य सरकार की ओर से शिक्षा अधिकारियों को पहले ही दिशा-निर्देश जारी किए जा चुके हैं।

राज्य सरकार के निर्देश के अनुसार कक्षाएं दो पालियों में संचालित होंगी। पहली पाली सुबह 8 बजे से दोपहर 12 बजे तक और दूसरी दोपहर 12.30 से शाम 4.30 बजे तक चलेगी। दोनों पालियों में छात्रों की संख्या 50 फीसदी ही होगी। अभिभावक की अनुमति के बाद ही छात्र पढ़ाई के लिए स्कूल आ सकेंगे। वहीं माध्यमिक विद्यालयों में सोमवार से शुक्रवार तक कक्षाएं लगेंगी, जिसमें सभी छात्रों को मास्क पहनकर आना अनिवार्य होगा।

यह भी पढ़ेंः-रक्षाबंधन समेत कई त्योहारों पर 5 दिन बंद रहेंगे बैंक, जल्द निपटा लें जरूरी काम