सोनभद्र। जब पीड़ित को न्याय दिलाने में व्यवस्था ही बाधक बन जाये तो नागरिक का विश्वास उठने लगता है। पीड़ित को न्याय के लिए एक ओर दबंग, शोषकों से जान बचाना होता है तो दूसरी और न्याय की गुहार लगाते रहना है। उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में घोरावल में ऐसा ही मानवता को शर्मसार करने वाला मामला आया है जिसमें पुलिस ने लापरवाही की हदें पार कर दी। घोरावल के कोतवाली क्षेत्र के एक गांव में नाबालिग लड़की के साथ सामूहिक दुष्कर्म हुआ। गैंगरेप की शिकार पीड़िता को 14 महीने इंसाफ की आस में दर-दर भटकना पड़ा लेकिन पुलिस ने तरस नहीं खाया। अब न्यायालय के आदेश पर मामले में 3 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। पीड़िता का आरोप है कि 14 महीने तक रोज उसे जान से मारने व बेइज्जत करने की धमकी आरोपियों के तरफ से मिलती रही लेकिन घोरावल पुलिस कोई सुरक्षा और न्याय नहीं दे सकी।

पीड़ित पक्ष लगातार उच्च अधिकारियों के चक्कर काटता रहा। मानसिक रूप से प्रताड़ना झेलने के बाद न्यायालय के आदेश पर मुकदमा दर्ज हुआ है। घोरावल स्थानीय कोतवाली क्षेत्र के एक गांव निवासी व्यक्ति ने रविवार शाम पुलिस को तहरीर देकर बताया कि जुलाई, 2020 को रात्रि 11 बजे उसकी 12 साल की नाबालिग पुत्री को शौच गई थीं रास्ते में उसके गांव के दो लोग और कोडिहार गांव का एक युवक ने उसकी पुत्री का मुंह बांधकर बंधक बना लिया। पीड़िता को एक दूसरे आरोपी के घर ले गये। यहां सभी ने उसके गैंगरेप किया। देर रात तक घर न आने पर जब वह खोजने निकला तो संतोष के घर में निर्वस्त्र हालत में उसकी पुत्री मिली। अभियुक्तों ने उसे शिकायत करने पर जान से मारने की धमकी दी। घटना के अगले दिन उभ्भा चैकी व घोरावल कोतवाली में तहरीर दी लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई। दबंगों के सामने पुलिस कार्रवाई से बचती रही।

मानवाधिकार आयोग व सीएम से लगा चुकी है गुहार

पुलिस अधीक्षक, मानवाधिकार आयोग व मुख्यमंत्री कार्यालय को 27 जुलाई 2021 को प्रार्थना पत्र भी भेजा लेकिन कुछ नहीं हुआ। मामले में जब न्यायालय की शरण ली तो अब कोर्ट के आदेश पर मुकदमा दर्ज किया गया है। इस सम्बंध में एसएचओ देवतानंद सिंह ने बताया कि पीड़िता के पिता की तहरीर पर संतोष पुत्र राम अवतार, देवराज उर्फ पंडित पुत्र राम अवतार व कोडिहार निवासी सोनू पुत्र अज्ञात के खिलाफ विभिन्न धाराओं मे केस दर्ज कर पुलिस मामले की जांच कर रही है।

यह भी पढ़ें-मानसिक कमजोर महिला को ऑटो वाले ने इस काॅलोनी में बनाया बंधक, आठ लोगों ने किया गैंगरेप