अब नहीं खुलेंगी मांस की दुकानें, इस वजह से लिया गया फैसला

दक्षिण दिल्ली नगर निगम ने नवरात्र और रमजान के पावन माह में मांस की दुकानें खोलने पर पूरी तरीके से प्रतिबंध लगा दिया है। बीते दिन इससे संबंधित दिशा-निर्देश भी जारी किए गए।

0
422

इस समय हिंदुओं में नवरात्रि का पर्व मनाया जा रहा है। दक्षिण दिल्ली नगर निगम ने नवरात्र और रमजान के पावन माह में मांस की दुकानें खोलने पर पूरी तरीके से प्रतिबंध लगा दिया है। बीते दिन इससे संबंधित दिशा-निर्देश भी जारी किए गए। मंगलवार को निगम ने हर क्षेत्र में चालू करने और उसका पालन करने का निर्देश दिया है।

दक्षिणी निगम के महापौर मुकेश सूर्या ने बीते दिन देर शाम इसकी जानकारी सबको दी। उन्होंने बताया कि नवरात्र में दिल्ली के अंदर बहुत से लोग उपवास रखते हैं। बता दें कि इस दौरान 90 फीसदी लोग लहसुन प्याज तक का परहेज मानते हैं क्योंकि इस बीच लोग देवी दुर्गा का पूजन करते हैं।

महापौर ने यह भी कहा कि इस समय रमजान के पवित्र माह भी है। इस दौरान लोग प्राथमिक दिनचर्या का पालन करते हैं। ऐसे में उनके पास मांस की दुकानें बंद रखने के लिए ढेरों सुझाव आए थे। नागरिकों ने पत्र लिख कर धार्मिक स्थलों के आसपास की सारी मांस की दुकानें बंद करवाने का अनुरोध किया था। पर उन्होंने पिक एंड शूज से बचाव करते हुए केवल धार्मिक स्थलों के आसपास की ही नहीं बल्कि निगम क्षेत्र की मांस की दुकानों को बंद करने का आदेश दिया जो लोग पालन नहीं करेंगे लिया जाएगा।

सीएम को लिखा गया शराब की दुकान बंद करने के लिए पत्र

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को महापौर मुकेश सुर्यान ने पत्र लिखकर नवरात्रि के समय शराब की दुकानें बंद करने आग्रह किया है। इसी के साथ ही कर दी गई छूट के निर्णय को वापस लेने का भी अनुरोध किया है।

इसे भी पढ़ें-नेपाल तक जुड़े हैं गोरखपुर कांड में आतंकी तार? सामने आई एटीएस की पूछताछ में कई बातें