Friday, December 3, 2021

मायावती ने बताया निर्णय में देरी तो अखिलेश ने कहा कि ‘विजय यात्रा’ से डरी बीजेपी

Must read

- Advertisement -

लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा तीनों नए कृषि कानून वापस लेने के ऐलान के बाद सियासी खलबली मच गयी है। एक साल से आंदोलन कर रहे किसानों के पक्ष में खडे़ राजनीतिक दलों ने जीत की प्रतिक्रिया दी है। कृषि कानून वापसी पर बसपा प्रमुख मायावती और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी बयान दिया है। बसपा प्रमुख मायावती ने कहा कि फैसला लेने में देरी कर दी। उन्होंने कहा कि यह फैसला बहुत पहले ले लेना चाहिए था। भाजपा ने की देर से किसाने परेशान हुए हैं और आन्दोलन लम्बा चला। उन्होंने कहा कि एमएसपी को लेकर भी सरकार फैसला करे। इस आंदोलन के दौरान किसान शहीद हुए हैं, उन्हें केंद्र सरकार आर्थिक मदद और नौकरी दे।

- Advertisement -

अखिलेश यादव ने ट्वीट कर कहा कि अमीरों की भाजपा ने भूमि अधिग्रहण व काले कानूनों से गरीबों-किसानों को ठगना चाहा। कील लगाई, बाल खींचते कार्टून बनाए। जीप चढ़ाई लेकिन सपा की पूर्वांचल की विजय यात्रा के जन समर्थन से डरकर काले-कानून वापस ले ही लिये। सपा प्रमुख ने कहा कि भाजपा बताए सैंकड़ों किसानों की मौत के दोषियों को सजा कब मिलेगी। किसान आंदोलन में बताया जा रहा है कि 700 से अधिक किसानों की मौत हो चुकी है। कृषि कानून वापसी को लेकर जयंत चैधरी ने ट्वीट करते हुए कहा कि यह किसान की जीत है, हम सब की जीत है. देश की जीत है।

ज्ञात हो कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले करीब एक साल से अधिक समय से विवादों में घिरे तीन कृषि कानूनों को वापस लिए जाने का ऐलान किया है। तीनों कृषि कानूनों को लेकर संसद के अगले सत्र में विधेयक लाया जाएगा। तीनों कृषि कानूनों के विरोध में किसान आंदोलन कर रहे थे। देश के करीब 40 किसान संगठनों के प्रतिनिधि समूह संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) ने तीनों केंद्रीय कृषि कानूनों को निरस्त करने की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की घोषणा का स्वागत किया है। उसने ये भी कहा कि एसकेएम सभी घटनाक्रमों का संज्ञान लेगा और जल्द ही बैठक कर आगे के निर्णयों की घोषणा करेगा। राकेश टिकैत ने कहा कि उपज का लाभकारी मूल्य निर्धारण सरकार को करना होगा।

यह भी पढ़ेंः-तीनों कृषि कानून वापस होने की घोषणा को विपक्ष ने बताया जीत, राहुल गांधी ने कही ये बात

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article