5.5 लाख करोड़ के बजट में किसानों को सौगात, खेल विश्वविद्यालय के साथ बढ़ेंगे एयरपोर्ट

suresh khanna

लखनऊ। प्रदेश के वित्तमंत्री सुरेश खन्ना ने बटज भाषण में सभी जिलों और क्षेत्रों को संतुलित विकास के वादे के साथ बजट प्रस्तुत किया। उन्होंने भाषण की शुरुआत करते हुए कहा कोरोना काल में सरकार ने एकजुट होकर कार्य किया। पहली बार शहरी क्षेत्र के मजदूरों के लिए 1035000 राशन कार्ड बनाए गए। कोरोना काल में राजस्थान के कोटा से लगभग 12000 छात्रों को और प्रयागराज से 14000 छात्रों को सकुशल के घर पहुंचाया गया। सभी कोरोना वॉरियर्स ने डटकर मुकाबला किया। वित्तमंत्री सुरेश खन्ना ने शायरना अंदाज में कहा कि हार तब होती है जब मान लिया जाता है और जीत तब होती है जब ठान लिया जाता है। कोरोना संकट काल में भी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देशन में सभी कर्मचारियों को समय पर वेतन का भुगतान किया गया। उन्होंने प्रदेश के लिए 5,50,270 करोड़ का बजट पेश करते हुए कहा कि कोरोना काल में 20 लाख मजदूरों को 1-1 लाख की मदद की गई। प्रदेश में कानून व्यवस्था में सुधार हुआ। प्रदेश में व्यापार आसान होगा। 2021-2022 का बजट प्रदेश के समग्र विकास को समपर्ति होगा। सुरेश खन्ना ने कहा निष्क्रिय सम्पत्ति को सक्रिय करने का काम किया है। साथ ही प्रदेश में प्रतियोगी छात्रों को फ्री कोचिंग की व्यवस्था की गई। 7.02 करोड़ बैंक खाते खुले हैं यूपी में इस साल जनवरी तक खोले गये हैं। बजट में कोरोना वैक्सीन के लिए 50 करोड़ रुपए प्रस्तावित किया गया है जबकि आयुष्मान भारत के लिए 13 करोड़ रुपये प्रस्तावित हैं। प्रदेश के पीपीपी मॉडल से मेडिकल कॉलेज बनाए जा रहे हैं। सुरेश खन्ना ने लैपटॉप से देख कर बजट पेश किया। यह योगी सरकार का अंतिम और पांचवा बजट है। उन्होंने कहा कि यह बजट प्रदेश के समग्र विकास को समर्पित है।

यह भी पढ़ेंः-suresh khanna 1suresh khanna 2

किसानों के लिए बड़ा ऐलान किया है। प्रदेश में अधिक उत्पादक वाली फसलों को चिन्हित किया जाएगा। ब्लॉक स्तर पर कृषक उत्पादन संगठनों की स्थापना की जाएगी। इसके लिए 100 करोड़ रुपये दिए जाएंगे किसानों को मुफ्त पानी की सुविधा के लिए 700 करोड़ रुपये दिया जाएगा। किसानों को रियायती दाम पर लोन देने का ऐलान किया गया है। वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने योगी आदित्यनाथ सरकार का पांचवा व अंतिम 5,50,270 करोड़ का बजट पेश किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि 2020-21 का बजट युवाओं और रोजगारों को समर्पित है। कर्मचारियों के वेतन और पेंशन का भुगतान किया गया। प्रदेश की हर महिला को सुरक्षा दे रहे हैं। अपराधियों पर सरकार कठोर कार्रवाई कर रही है। उन्होंने कहा कि प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए मुफ्त कोचिंग की व्यवस्था होगी। इसके लिए छात्र-छात्राओं को टैबलेट भी दिए जाएंगे। बेरोजगार युवाओं की काउंसलिंग की। अभी तक 52 हजार युवाओं को इसका लाभ मिला है। उन्होंने कहा कि पेयजल योजना के लिए 15000 करोड रुपए का बजट में प्रस्तावित है। 2022 तक शहर और गांवों के घर-घर तक नल से पानी पहुंचाया जाएगा।

पर्यटन और धर्म के लिए उन्होंने कहा कि अयोध्या के लिए 140 करोड़ का बजट रखा गया है। अयोध्या स्थित सूर्यकुण्ड के विकास सहित अयोध्या नगरी के सर्वांगीण विकास की योजना हेतु वित्तीय वर्ष 2021-22 के बजट 140 करोड़ रुपये की व्यवस्था का प्रस्ताव। लखनऊ में राष्ट्रीय प्रेरणा स्थल के निर्माण हेतु 50 करोड़ रुपये की व्यवस्था प्रस्तावित। प्रदेश में एयरपोर्ट की संख्या बढ़ेगी। उत्तर प्रदेश में ऑपरेशनल एयरपोर्ट्स की संख्या 4 से बढ़कर 7 हो गई। जनपद अयोध्या में निर्माणाधीन एयरपोर्ट का नाम मर्यादा पुरूषोत्तम श्रीराम हवाई अड्डा अयोध्या होगा इस हेतु 101 करोड़ रुपये की बजट व्यवस्था प्रस्तावित। जेवर एयरपोर्ट में हवाई पट्टियों की संख्या दो से बढ़ाकर छह करने का निर्णय लिया गया है। इस परियोजना हेतु 2000 करोड़ रुपये की बजट व्यवस्था प्रस्तावित है। कुशीनगर एयरपोर्ट को केन्द्र सरकार द्वारा अन्तर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट घोषित है। राज्य में शीघ्र ही 4 अन्तर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट लखनऊ, वाराणसी, कुशीनगर व गौतमबुद्धनगर में होंगे। अलीगढ़, आजमगढ़, मुरादाबाद व श्रावस्ती एयरपोर्ट का विकास लगभग पूर्ण हो गया है तथा चित्रकूट तथा सोनभद्र एयरपोर्ट मार्च 2021 तक पूर्ण होंगे।

उन्होंने कहा कि महिलाओं के लिए दो योजनाएं शुरू होंगी और किसानों को सस्ता लोन मिलेगा। कानपुर मेट्रो के लिए 597 करोड़ का प्रावधान किया गया है। सुरेश खन्ना ने कहा कानपुर मेट्रो रेल परियोजना की अनुमोदित लागत 11,076 करोड़ रूपये है। वित्तीय वर्ष 2021-2022 के बजट में परियोजना हेतु 597 करोड़ रूपये की व्यवस्था प्रस्तावित है। कानपुर मेट्रो रेल परियोजना के प्राथमिक सेक्शन आईआईटी कानपुर से मोतीझील पर ट्रायल रन प्रारम्भ करने की लक्षित तिथि है। स्पोट्स सिटी मेरठ को स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी का तोहफा दिया है। मेरठ में स्पोर्ट्स विश्वविद्यालय बनाने का एलान किया है। इसके साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में ओपन जिम बनाए जाएंगे। बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे के लिए 1492 करोड़ रुपये का बजट पेश किया। वित्त मंत्री ने पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के लिए 1107 करोड़ रुपये का बजट पेश किया। गोरखपुर एक्सप्रेस-वे के लिए 750 करोड़ रुपये का बजट पेश किया। सुरेश खन्ना ने कहा कि गोवंश के सरंक्षण के लिए योजना चलाई जा रही है। अलग-अलग जगह पर गोशाला बनाई गई हैं। इसे आगे बढ़ाया जाएगा और अलग-अलग जगहों पर आश्रय स्थलों की संख्या को बढ़ाई जाएगी। योगी सरकार ने दिल्ली-मेरठ रैपिड रेल के लिए 1326 करोड़ रुपये प्रस्तावित किया है। इसके अलावा गोरखपुर-वाराणसी मेट्रो के लिए 100-100 करोड़ रुपये दिए गए हैं।

जेवर एयरपोर्ट के पास इलेक्ट्रॉनिक सिटी बनाई जाएगी। वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने ऐलान किया कि जेवर एयरपोर्ट के पास एक इलेक्ट्रॉनिक सिटी बनाई जाएगी। प्रदेश में अलग-अलग जगहों पर आईटी पार्क बनाए जा रहे हैं। अयोध्या में बनेगा मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम एयरपोर्ट 101 करोड़ रुपये खर्च हांेगे। वित्त मंत्री ने कहा कि राम मंदिर तक पहुंच मार्ग के लिए 300 करोड़ से अधिक राशि दी गई है। प्रदेश के कलाकारों को यूपी गौरव सम्मान दिया जाएगा। इसके लिए 11 लाख रुपये की राशि दी जाएगी। सुरेश खन्ना ने ऐलान किया कि अयोध्या-वाराणसी में पर्यटन विकास के लिए 100-100 करोड़ रुपये दिए जाएंगे। यूपी में कक्षा एक से आठ तक मुफ्त ड्रेस देने का काम किया जा रहा है।
आज योगी आदित्यनाथ उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार के पहले ऐसे मुख्यमंत्री हो गये हैँ। जिनकी देखरेख में लगातार पांचवीं बार बजट पेश किया गया। प्रदेश में इससे पहले कल्याण सिंह, राम प्रकाश गुप्ता तथा राजनाथ सिंह भी उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री थे, लेकिन कोई भी तीन बार से अधिक बजट नहीं पेश कर सका था।

इन योजनाओं को मिले यह धनराशि
कन्या सुमंगल योजना के लिए 1200 करोड़
महलिा शक्तिकेंद्रों के लिए 32 करोड़ रुपये
गांव में स्टेडयिम के लिए 25 करोड़ रुपये
संस्कृत स्कूलों में फ्री छात्रावास की सुविधा
बीमा के लएि 600 करोड़ की व्यवस्था
अधिवक्ता चेंबर के लिए 20 करोड़ रुपये
प्रदेश की नहरों के लिए 700 करोड़ रुपये
डिजटिल स्वास्थ्य मशिन के लिए 32 करोड़ रुपये
पूर्वांचल एक्सप्रेस वे के लिए 1107 करोड़ रुपये
निर्माणाधीन मेडकिल कालेजों के लिए 950 करोड़ रुपये
चित्रकूट में पर्यटन के लिए 20 करोड़ रुपये

यह रही विशेषताएं

1.प्रदेश के इतिहास में ऐसा पहली बार हो रहा है की बजट मोबाइल एप्प से सब के लिए मौजूद
2.पूरा का पूरा बजट डिजिटल प्लेटफार्म उपलब्ध
3. बजट की किताब नहीं छपा, पूरा का पूरा बजट डिजिटल प्लेटफार्म पर

यह भी पढ़ेंः-UP Budget 2021: योगी सरकार खोलेगी तोहफों का पिटारा, सरकारी कर्मचारियों के लिए होगा खास

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *